Share:
ठंड के साथ बढ़ जाती है डैंड्रफ की परेशानी, इन ट्रिक्स से पाएं छुटकारा
ठंड के साथ बढ़ जाती है डैंड्रफ की परेशानी, इन ट्रिक्स से पाएं छुटकारा

सर्दियों का मौसम सूरज की रोशनी की गर्मी, ठंडी हवाएँ, आरामदायक स्वेटर और गर्म चाय लाता है, यह शुष्क त्वचा और रूसी की समस्या के अवांछित साथ को भी आमंत्रित करता है। हालाँकि रूसी एक आम समस्या है, लेकिन यह त्वचा को शुष्क बनाकर और जलन पैदा करके किसी के आत्मविश्वास को प्रभावित कर सकती है। इस समस्या से प्रभावी ढंग से निपटने के लिए रसायन युक्त शैंपू या उपचार का सहारा लेने के बजाय, आप सरल घरेलू उपचार की ओर रुख कर सकते हैं। इन प्राकृतिक उपचारों के नियमित उपयोग से रूसी से राहत मिल सकती है और स्वस्थ खोपड़ी को बढ़ावा मिल सकता है। आइए आपको बताते है रूसी के लिए कुछ प्रभावी घरेलू उपाय...

गर्म तेल की मालिश:
आखिरी बार आपने अपने बालों की गर्म तेल से मालिश कब की थी? सर्दियों के मौसम को स्वीकार करें और नियमित रूप से गर्म तेल से अपने सिर की मालिश करना एक दिनचर्या बना लें। चाहे वह नारियल का तेल हो, जैतून का तेल हो, या बादाम का तेल हो, इसे धीरे से गर्म करें और अपने स्कैल्प पर मालिश करें। प्राकृतिक तेल खोपड़ी को आवश्यक नमी प्रदान करते हैं, जिससे रूसी की समस्या को कम करने में मदद मिलती है।

टी ट्री ऑयल:
टी ट्री ऑयल अपने एंटी-फंगल गुणों के लिए प्रसिद्ध है, जो इसे रूसी से निपटने के लिए एक उत्कृष्ट उपाय बनाता है। आप या तो अपने नियमित शैम्पू में चाय के पेड़ के तेल की कुछ बूँदें मिला सकते हैं या सुखदायक बालों की मालिश के लिए इसे किसी अन्य वाहक तेल के साथ मिला सकते हैं। टी ट्री ऑयल को सीधे अपने बालों में लगाने से हमेशा बचें, क्योंकि इससे जलन हो सकती है। इसे अपने बालों की देखभाल की दिनचर्या में शामिल करने से रूसी की समस्या को कम करने में मदद मिल सकती है।

एलोवेरा:
एलोवेरा अपने सुखदायक और एंटी-फंगल गुणों के लिए जाना जाता है, जो इसे रूसी को कम करने के लिए एक प्रभावी समाधान बनाता है। अपने बालों की जड़ों में ताजा एलोवेरा जेल लगाएं और बाल धोने से पहले इसे लगभग आधे घंटे के लिए छोड़ दें। एलोवेरा न केवल रूसी को कम करने में मदद करता है बल्कि खुजली और जलन से भी राहत दिलाता है।

नींबू की साइट्रस शक्ति:
नींबू, जो कि रसोई का प्रमुख पदार्थ है, डैंड्रफ को पूरी तरह खत्म करने में अद्भुत काम कर सकता है। नींबू की अम्लता खोपड़ी के पीएच को संतुलित करने में मदद करती है, जिससे यह रूसी के लिए प्रतिकूल वातावरण बन जाता है। ताजा नींबू का रस निचोड़ें और इसे कॉटन बॉल का उपयोग करके अपने स्कैल्प पर लगाएं या अपने बालों के तेल के साथ मिलाएं। अपने बालों को अच्छी तरह धोने से पहले इसे लगभग पांच से दस मिनट के लिए छोड़ दें।

मेथी का प्रभाव:
मेथी, या मेथी, न केवल बालों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है, बल्कि इसमें एंटी-फंगल गुण भी हैं जो रूसी से प्रभावी ढंग से निपट सकते हैं। मेथी के दानों को रात भर पानी में भिगोकर रखें, फिर उन्हें पीसकर पेस्ट बना लें और इसे अपने स्कैल्प पर लगाएं। एक घंटे बाद अपने बालों को अच्छे से धो लें। मेथी का नियमित उपयोग स्वस्थ बालों और रूसी-मुक्त खोपड़ी में योगदान कर सकता है।

रूसी से निपटने के लिए रासायनिक उपचारों के बजाय प्राकृतिक उपचारों की शक्ति को अपनाएँ। गर्म तेल की मालिश, चाय के पेड़ के तेल, एलोवेरा, नींबू और मेथी का नियमित उपयोग रूसी को काफी हद तक कम कर सकता है और स्वस्थ खोपड़ी को बढ़ावा दे सकता है। इन सरल उपायों को अपने बालों की देखभाल की दिनचर्या में शामिल करें, और इस सर्दियों में बालों की पपड़ी और खुजली को अलविदा कहें।

3 लाख में मिलेंगी 3 करोड़ की दवाएं ! चिकित्सा क्षेत्र में भी 'आत्मनिर्भर' हो रहा भारत, घर में बना रहा वो दुर्लभ 'मेडिसिन' जो आज तक नहीं बनी थी

दिल्ली के बाद अब बंगाल की भी हवा हुई जहरीली ! कोलकाता में AQI 'बहुत ख़राब'

क्या फिर आ रही 'कोरोना' जैसी महामारी ? चीन में 'रहस्यमयी बीमारी' के बीच भारत ने शुरू की तैयारी

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -