नोटबंदी से अखबारों के दफ्तरों में लगे ताले

इम्फाल :  नोटबंदी के कारण मणिपुर से प्रकाशित होने वाले अखबारों के दफ्तरों में ताले लग गये है। आरोप है कि नोटबंदी से न तो विज्ञापन आ रहे है और न ही वेतन बांटने के लिये पैसे ही बचे है, अन्य खर्चों को तो पूरा करने का सवाल ही नहीं उठता। इस चक्कर में यहां से प्रकाशित होने वाले  अखबारों ने कार्यालयों को बंद करने का फैसला ले लिया।

मणिपुर से प्रकाशित प्रसिद्ध अखबार कांग्लोपाओ के संपादक एवं मालिक पाओनाम लबांगो मनगांग ने बताया कि शनिवार से यहां कोई भी अखबार प्रकाशित नहीं किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि नोटबंदी के कारण स्थिति खराब हो गई है, जब तक स्थिति सामान्य नहीं हो जाता, तब तक कोई भी कार्यालय नहीं खोले जायेंगे।

बताया गया है कि यहां समाचार पत्रों के प्रकाशकों, संपादकों और वितरकों की बैठक हुई थी, जिसमें सभी ने एक मत से अखबारों के कार्यालयों को बंद करने का ऐलान किया। कहा गया है कि न तो विज्ञापन देने वालों के पास नये नोट है और न हम पुराने नोट लेने की रिस्क उठा सकते है, ऐसे में अखबार कैसे प्रकाशित करें।

अब पाक अखबारों ने भी उठाए अजहर-हाफिज पर सवाल

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -