कॉल ड्राप छिपाने के लिए कंपनियां ले रहीं तकनीक का सहारा

कॉल ड्राप छिपाने के लिए कंपनियां ले रहीं तकनीक का सहारा
Share:

नई दिल्ली: भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने मंगलवार को मुंबई में अपने परीक्षण रिपोर्ट में कहा है, अधिकतर कंपनियां नेटवर्क में सुधार पर ध्यान दे रही हैं. हालांकि एयरसेल, वोडाफोन तथा आइडिया द्वारा आरएलटी का उपयोग (कॉल खत्म करने का समय) सही नहीं है और उसका तत्काल समाधान किये जाने की जरूरत है।

दूरसंचार नियामक ट्राई ने कहा है कि एयरसेल, वोडाफोन और आइडिया जैसी प्रमुख कंपनियां मुंबई में गलत तरीके से कॉल ड्राप छिपाने की प्रौद्योगिकी या आरएलटी का उपयोग कर रही हैं. इस प्रौद्योगिकी के उपयोग की मदद से अगर कोई ग्राहक खराब नेटवर्क कवरेज क्षेत्र में जाता है तो कॉल कटता नहीं है और बना रहता है और इसके लिये उसे बिल का भुगतान करना होता है. यह परीक्षण 10 से 13 मई के दौरान करीब 580 किलोमीटर के क्षेत्र में किया गया।

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -