Share:
पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाने पर हुई थी शिक्षक सैमुअल पैटी की हत्या, 6 नाबालिगों पर मुकदमा चला रहा फ्रांस
पैगंबर मोहम्मद का कार्टून दिखाने पर हुई थी शिक्षक सैमुअल पैटी की हत्या, 6 नाबालिगों पर मुकदमा चला रहा फ्रांस

पेरिस: देश के धर्मनिरपेक्ष मूल्यों पर हमला करने वाले एक हमले में 2020 में एक संदिग्ध इस्लामवादी द्वारा फ्रांसीसी इतिहास के शिक्षक सैमुअल पैटी का सिर काटने में शामिल होने के आरोपी छह किशोरों पर सोमवार को बंद दरवाजे के पीछे मुकदमा चलाया जाएगा। शिक्षक ने अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर एक कक्षा में अपने विद्यार्थियों को पैगंबर मोहम्मद के कार्टून दिखाए थे, जिससे कई मुस्लिम माता-पिता नाराज हो गए थे। दरअसल, मुसलमानों का मानना है कि पैगंबर का कोई भी चित्रण ईशनिंदा (Blasphemy) है और इसकी सजा केवल मौत है।

 

नाबालिगों में से एक 15 वर्षीय लड़की है, जिसने कथित तौर पर अपने माता-पिता को बताया कि पैटी ने उसकी कक्षा में पैगंबर के कैरिकेचर दिखाए थे। उस लड़की पर झूठ बोलकर लोगों को भड़काने का आरोप है, क्योंकि जब ये सब हुआ तब वह स्कूल की कक्षा में ही नहीं थी। बता दें कि, 47 वर्षीय सैमुअल पैटी की पेरिस उपनगर में उसके स्कूल के बाहर रूस में जन्मे चेचन मूल के 18 वर्षीय हमलावर ने हत्या कर दी थी, जिसे हमले के तुरंत बाद पुलिस ने गोली मार दी थी। मुकदमा चलाने वाले पांच अन्य नाबालिगों पर, जिनकी उम्र हमले के समय 14 से 15 वर्ष के बीच थी, पूर्व नियोजित आपराधिक साजिश या घात लगाकर हमला करने का आरोप लगा है। उन पर संदेह है कि उन्होंने पैटी को हत्यारे के बारे में बताया था या उसके स्कूल से बाहर निकलने पर नज़र रखने में मदद की थी। सभी छह नाबालिगों को बच्चों की अदालत में भेजा गया और उन्हें 2.5 साल की जेल हो सकती है। 8 दिसंबर तक चलने वाली सुनवाई बंद दरवाजों के पीछे होगी। इस मामले में 8 वयस्क भी आरोपी हैं और उन्हें विशेष आपराधिक अदालत में पेश किया जाएगा।

बता दें कि, फ्रांस यूरोप के सबसे बड़े मुस्लिम अल्पसंख्यकों (अधिकतर शरणार्थी) का घर है और पिछले वर्षों में इस देश ने इस्लामी आतंकवादियों या उनके समर्थकों द्वारा कई हमलों का सामना किया है। पैटी की हत्या के मद्देनजर, कुछ शिक्षकों ने स्वीकार किया कि उन्होंने धर्म और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर विद्यार्थियों और अभिभावकों के साथ टकराव से बचने के लिए खुद को सेंसर कर लिया है।

'आप निज्जर की हत्या के लिए जिम्मेदार..', न्यूयॉर्क गुरूद्वारे में भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू को खालिस्तानियों ने घेरा, की धक्कामुक्की

'सभी बंधकों की वापसी और आतंकियों का विनाश, युद्ध नहीं रुकेगा..', इजराइल का स्पष्ट रुख, संघर्षविराम बढ़ाने के लिए गिड़गिड़ा रहा 'हमास'

आज इजराइल में होंगे एलन मस्क, राष्ट्रपति इसाक और 'हमास' द्वारा बंधक बनाए गए लोगों के परिजनों से करेंगे मुलाकात

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -