तालिबान ने कोर्ट के कर्मचारियों से भरी मिनी बस को बनाया निशाना

काबुल : काबुल में एक आत्मघाती हमलावर ने एक बस को निशाना बनाया, जिसमें 11 लोगों की जानें गई। इस बस में अदालत के कर्मचारी सवार होकर जा रहे थे। तालिबान ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। होम मिनिस्टरी के उप प्रवक्ता नजीब दानिश ने कहा कि पैदल आए बम हमलावर ने शहर के पश्चिमी हिस्से में इस वाहन के पास जाकर अपने शरीर पर बंधे विस्फोटकों में विस्फोट कर दिया।

दानिश ने बताया कि हमले में अदालत के कर्मी के साथ-साथ आम नागरिक भी घायल हुए है। मिनी बस पड़ोसी मैदान वारदक प्रांत के न्याय विभाग की थी। हमले के एक घंटे बाद ही तालिबान ने साफ कर दिया कि हमला उसी ने किया है। यह कोई पहली बार नहीं है, सरकार के खिलाफ अपनी लड़ाई में तालिबान अक्सर सरकारी कर्मियों को निशाना बनाता है।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने मीडिया को भेजे एक ईमेल में कहा कि यह हमला काबुल में 6 निर्दोष कैदियों की हत्या का बदला है। इन 6 कैदियों को काबुल की जेल में इस माह की शुरूआत में फांसी पर लटकाया गया था।

राष्ट्रपति अशरफ गनी के कार्यालय से इसके बाद कहा गया था कि उन छह आतंकियों की फांसी को मंजूरी दी थी, जिन्होंने नागरिकों और सुरक्षा कर्मियों के खिलाफ संगीन अपराधों की साजिश रची थी। गनी ने 2014 में शपथ के साथ ही इन कैदियों की फांसी की भी मंजूरी दी है।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -