रियो ओलंपिक में नाम न होने से नाखुश सुशील कुमार ने ये क्या कह डाला?

नई दिल्ली : भारतीय ओलंपिक संघ (IOA) को रियो ओलंपिक के लिए भारतीय कुश्ती महासंघ की ओर से भेजी गई पहलवानों की सूची में सुशील कुमार का नाम नहीं होने पर पर बबाल मचा हुआ है. इसी बीच ओलंपिक पदक विजेता सुशील ने एक बार फिर ट्रायल कराए जाने की मांग की है. IOA को भेजी गई सूची में सुशील का नाम न होने के बाद अब उनका ओलंपिक में खेलना काफी मुश्किल माना जा रहा है. 

32 वर्षीय सुशील ने इस बारे में कहा कि मैं इस बारे में ज्यादा नहीं कहना चाहता. मैं तो सिर्फ ट्रायल के बारे में कह रहा हूं. मैं यह नहीं कह रहा कि आप मुझे मेरे पूर्व प्रदर्शन के आधार पर रियो भेजें. मेरा कहना सिर्फ यही है कि नरसिंह और मुझमें जो भी बेहतर हो, वही रियो जाए.

उन्होंने आगे कहा कि जब कोटा देश से संबंधित है, किसी एक व्यक्ति से नहीं और उस वर्ग में 2 बेहतरीन पहलवान हैं तो फिर एक ट्रायल होना चाहिए. इसके लिये एक प्रक्रिया है और उसका पालन होना चाहिए. अमरीका में भी पूर्व विश्व और ओलंपिक चैंपियन जार्डन को भी ट्रायल से गुजरना पड़ा. और दुनिया में यही होता है.

गौरतलब है कि सुशील का ओलंपिक में वजन वर्ग 74 किग्रा है और इस वर्ग में महाराष्ट्र के नरसिंह यादव ने गत वर्ष लास वेगास में हुई विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतकर देश को ओलंपिक कोटा दिलाया था. नरसिंह के ओलंपिक कोटा जीतने के बाद से ही यह कयास चल रहे थे कि उनके और सुशील के बीच ट्रायल होगा और जीतने वाला पहलवान रियो ओलंपिक जाएगा.लेकिन ऐसा नहीं हुआ.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -