उसने 'हुसैन' लिखा हुआ कागज़ फाड़ा, हमने जिन्दा जला डाला.., PAK में श्रीलंकाई नागरिक की हत्या का मामला

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में एक शख्स को भीड़ ने ज़िंदा जला कर मार डाला, क्योंकि उस पर इस्लाम मजहब का अपमान करने का इल्जाम था। मृतक की शिनाख्त श्रीलंका के प्रियंथा कुमारा के रूप में की गई है। इस मामले में पाकिस्तान की पुलिस ने फरहान और तलका नाम के दो युवकों को अरेस्ट किया है। हत्यारों ने कैमरे पर भी अपना जुर्म कबूल कर लिया है। ट्विटर पर पत्रकार हामिद मीर ने वीडियो साझा किया है, जिसमें कातिल यह कहते नज़र आ रहे हैं कि मृतक ने हुसैन लिखा हुआ कागज़ फाड़ कर फेंका था।

 

आरोपियों ने कहा कि, 'हमने अपने साथियों से कहा कि ये गलत हुआ है। हमने अपने प्रबंधन के साथ बात की। हम सब मिल कर इकट्ठे हुए और उस पर तेल छिड़ककर जला डाला। हमारे रसूल के नाम पर तो जान भी कुर्बान है। हमारी हदीस में लिखा है कि जो भी नबियों की शान में गुस्ताखी करेगा, उसका सिर तन से जुदा कर दिया जाएगा।' एक अन्य आरोपी ने कहा कि, 'मोहम्मद कलाम नाम है मेरा। फरहान, मोहम्मद फरहान। एक पेपर पर हुसैन लिखा हुआ था, जिसे उसने लेकर फाड़ दिया और डस्टबिन में डाल दिया।'

 

आरोपियों ने कैमरे पर कहा कि, 'हुसैन लिखे हुए कागज़ को फाड़ कर डस्टबिन में फेंकना हमसे बर्दाश्त नहीं किया गया। हमने प्रबंधन से बात की। वो कह रहे कि गलती हुई है। हमने कहा कि मैनेजर से बात करें। जिसने भी यह किया है, गलत किया है। वो कह रहे हैं कि हम आगे बात करते हैं। अभी भी बात होनी है, और तब तक हमें काम नहीं करना। कहते हैं कि ठीक है। फिर हमने लड़के लिए हैं और भी साथ आया। फिर हमने न उसको यहाँ पर तेल डालकर जला दिया।' वीडियो वायरल होने पर सोशल मीडिया यूज़र्स इस कृत्य की निंदा कर रहे हैं।

सख्त प्रोटोकॉल के बाद भी जूनियर हॉकी वर्ल्डकप में पाया गया कोरोना संक्रमित

38 देशों में Omicron में पसारे पैर, मौतों को लेकर WHO ने कही बड़ी बात

ट्यूनीशिया नेओमिक्रोन वैरिएंट के पहले मामले की पुष्टि की

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -