अब सोमनाथ मंदिर कर रहा गोल्ड स्कीम में निवेश

Jan 18 2016 03:33 PM
अब सोमनाथ मंदिर कर रहा गोल्ड स्कीम में निवेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा देश में शुरू की गई गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम को अच्छा रिस्पॉन्स नहीं मिल पाया है. गौरतलब है कि योजना के शुरू किये जाने के एक महीने के भीतर इसमें केवल 400 ग्राम सोना ही इकट्ठा हो पाया है. लेकिन अब यह बात सामने आ रही है कि देश के प्रमुख मंदिरो में से गुजरात के सोमनाथ मंदिर के द्वारा यह फैसला लिया गया है कि वह अपने पास से 35 किलो सोना गोल्ड मॉनेटाइजेशन स्कीम के अंतर्गत निवेश करने वाला है. जबकि इसके साथ ही यह भी बता दे कि इस मंदिर के ट्रस्टी के रूप में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही कई अन्य नेता भी शामिल है.

इनके द्वारा ही माँदृ प्रशासन को भी निवेश के लिए मंजूरी दी गई है. ट्रस्ट के एक मेंबर ने यह बताया है कि अभी उनके पास करीब 35 किलो ऐसा सोना रखा हुआ है जोकि शुद्ध सोने और गहने के रूप में है. उन्होंने इसके साथ ही यह भी बताया है कि उपलब्ध सोने का बड़ी मात्रा में हिस्सा मंदिर की सजावट में उपयोग किया जाता है जबकि यह 35 किलो सोना ऐसा है जो किसी भी उपयोग में नहीं आ रहा है.

इस कारण इसे स्कीम में लगाने का फैसला किया गया है. जबकि इसके साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि सिद्धिविनायक मंदिर के द्वारा भी इस योजना में 40 किलो सोना निवेश करने फैसला किया गया है. बता दे कि इस निवेश के द्वारा मंदिर को वार्षिक आधार पर 69 लाख रुपये का ब्याज मिलने की उम्मीद जताई जा रही है.