सिख फॉर जस्टिस की धमकी, कहा- अगर 26 जनवरी को हिंसा हुई तो सरकार जिम्मेदार होगी

By Bhavesh Bakshi
Jan 25 2021 09:06 AM
सिख फॉर जस्टिस की धमकी, कहा- अगर 26 जनवरी को हिंसा हुई तो सरकार जिम्मेदार होगी

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस से पहले राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और देश के अन्य कई इलाकों में सुरक्षा में इजाफा कर दिया गया है. इस सबके बीच CISF के कंट्रोल रूम में प्रतिबंधित संगठन की तरफ से फोन कॉल किया गया, जिसमें 26 जनवरी को होने वाली किसानों की ट्रैक्टर रैली का उल्लेख था. जानकारी के अनुसार, सिख फॉर जस्टिस संगठन के आतंकी गुरुपतवंत सिंह पन्नू की तरफ से ये फोन कॉल किया गया था. जिसमें कहा गया कि अगर किसानों की ट्रैक्टर रैली में कोई हिंसा होती है, तो उसके लिए सरकार ही जिम्मेदार होगी.

गणतंत्र दिवस से एन पहले इस तरह की धमकी आने के बाद दिल्ली पुलिस और अन्य खुफिया एजेंसियां पूरी तरह अलर्ट हो गई हैं.  सिख फॉर जस्टिस भारत में प्रतिबंधित संगठन है, जिसका नाम पहले भी किसानों के आंदोलन से जुड़ता रहा है. ये फोन कॉल 13477934761 नंबर से आया था. जिसमें कहा गया कि सिंघु सीमा पर पंजाब के किसान जमा हैं, हम कोई हिंसा नहीं चाहते हैं. लेकिन यदि 26 जनवरी को किसानों की ट्रैक्टर रैली में कोई हिंसा हुई तो उसके लिए भारत ही जिम्मेदार होगा.’

आपको बता दें कि कुछ समय पहले ही भारत सरकार ने गुरुपतवंत सिंह को आतंकी घोषित किया था. काफी समय से वो खालिस्तान को लेकर आवाज बुलंद करने का काम कर रहा है. बता दें कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर कृषि कानून को लेकर आंदोलन कर रहे किसान संगठन ट्रैक्टर रैली निकालने वाले हैं. दिल्ली पुलिस ने इसकी अनुमति दे दी है, किन्तु सुरक्षा काफी कड़ी की गई है. दिल्ली पुलिस ने पहले भी जानकारी दी थी कि ट्रैक्टर रैली को लेकर पाकिस्तान के कुछ ट्विटर हैंडल सक्रीय हैं, जो माहौल बिगाड़ रहे हैं. 

आखिर क्यों मनाते हैं राष्ट्रीय मतदाता दिवस, जानिए यहाँ

राष्ट्रीय कुश्ती चैम्पियनशिप में पंकज, रविन्द्र ने पहले दिन जीता स्वर्ण पदक

उत्तराखंड की एक दिन की मुख्यमंत्री बनी सृष्टि गोस्वामी