गणेश विसर्जन के दौरान तालाब में डूबे 11 लोग, पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे शिवराज सिंह

गणेश विसर्जन के दौरान तालाब में डूबे 11 लोग, पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे शिवराज सिंह

भोपाल: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के खटलापुरा घाट पर शुक्रवार को गणेश विसर्जन के दौरान 11 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई है. इस हादसे के बाद राज्य के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने घटनास्‍थल पर पहुंचकर पीड़ितों से मुलाकात की है. शिवराज ने कहा कि बहुत दुखद घटना हुई है. यह आलोचना का वक़्त नहीं है. किन्तु गणेश विसर्जन पर ऐसी आशंकाएं रहती हैं. प्रशासन को सुरक्षा व्यवस्था करना चाहिए थी. घटना की जांच के आदेश दिए गए हैं, इसलिए मैं आलोचना नहीं कर रहा.

शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि सीएम और प्रशासन पूरे राज्य में सुरक्षा का बंदोबस्त करें. ये प्राथमिक जिम्मेदारी है. मेरा सीएम कमलनाथ से आग्रह है कि घटना के दोषियों को चिन्हित करके कार्रवाई की जानी चाहिए. पीड़ित परिवारों की स्थिति को देखते हुए कम से कम 10-10 लाख मुआवजा दिया जाना चाहिए. गौरतलब है कि घटना के बाद 6 लोग तैरकर सुरक्षित बाहर आ गए, वहीं अभी कुछ और लोगों के लापता होने की आशंका जताई जा रही है. इसके चलते गोताखोरों की टीम बचाव कार्य में जुटी हुई है.

पिपलानी इलाके के निवासी आज सुबह लगभग 4 बजे चल समारोह के साथ एक बड़ी गणेश प्रतिमा को विसर्जित करने के लिए छोटे तालाब के खटलापुरा घाट पर पहुंचे थे, जहां प्रतिमा को नाव के जरिए तालाब में विसर्जित किया जा रहा था, इसी दौरान संतुलन बिगड़ने से नाव पलट गई, जिसमें सवार 18 लोग तालाब में डूब गए, जिनमें से 6 तैरकर तालाब से घाट पर आ गए जबकि 12 लोग पानी से बाहर नहीं आ सके, इसमें से 11 लोगों के शव बरामद कर लिए गए हैं.

लौह पुरुष सरदार पटेल का 'ऑपरेशन पोलो', जिसके सामने नतमस्तक हो गया था हैदराबाद का निजाम...

कांग्रेस नेता डी के शिवकुमार ने दिल्ली के तुग़लक़ रोड थाने में काटी रात, आज अदालत में पेश करेगी ईडी

गुरुत्वाकर्षण पर दिए बयान को लेकर ट्रोल हुए पीयूष गोयल, कांग्रेस ने भी साधा निशाना