मोहब्बत है तुझसे

मोहब्बत है तुझसे

हमने उन्हें दिल में बसाया है।

अपने प्यार को दुनिया से छुपाया है।

हम जाहिर नहीं करना चाहते है अपनी आशिकी,

क्यों की हमने अपनी आशिकी को ही जिंदगी बनाया है ।

मुश्किलो से संभालता हु टूट जाने के बाद।

रो देता हु मुस्कुरा देने के बाद।

आज भी मोहब्बत है तुझसे बेइंतेहा।

तेरी याद आती है चले जाने के बाद ।