Share:
गलती से भी इस तरह ना लगाए शमी का पौधा वरना बढ़ेगी समस्याएं
गलती से भी इस तरह ना लगाए शमी का पौधा वरना बढ़ेगी समस्याएं

वास्तु शास्त्र में कई पेड़-पौधे होते हैं जिनका अपना अलग-अलग महत्व होता है। कई ऐसे होते हैं जिन्हें घर में लगाने से सुख-समृद्धि तो आती ही है और इसी के साथ ही, व्यक्ति के जीवन से सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं। इसी लिस्ट में शामिल है शमी का पौधा। नौकरी, बिजनेस, आर्थिक तंगी, विवाह आदि से जुड़ी समस्याएं व्यक्ति के जीवन में ग्रहों के पक्ष में न होने के कारण होती हैं। वहीं वास्तु शास्त्र में घर में शमी के पौधे को लगाना शुभ बताया गया है। इस पौधे के सकारात्मक प्रभाव से न सिर्फ शनि शांत होते हैं बल्कि कुंडली में उनकी मजबूती होती है। हालाँकि अगर शमी के पौधे को सही तरीके से नहीं लगाया जाए तो ये मुसीबतें लाने वाला होता है। अब आज हम आपको बताते हैं इस पौधे को सही से लगाने का तरीका।

- शमी का पौधा शनि ग्रह के लिए लगाया जाता है। इसलिए इसे शनिवार के दिन सुबह स्नान आदि से निवृत्त होने के बाद लगाएं। ध्यान रहे आप इसे नवरात्रि या फिर दशहरा के दिनों में भी लगा सकते हैं।

- शमी का पौधा घर के मेन गेट पर या फिर छत पर ही लगाया जाता है। जी हाँ और अगर आप इसे घर के बाहर लगा रहे हैं, तो इस बात का ध्यान रखे कि घर में घुसते समय ये पौधा आपके बाएं हाथ की तरफ होना चाहिए।

- शमी का पौधा शनिवार के दिन साफ गमले या फिर जमीन में लगाना चाहिए।

- अगर आप शनिवार के दिन गमले में शमी का पौधा लगा रहे हैं, तो इसकी जड़ में 1 रुपये का सिक्का सुपारी रख दें। जी हाँ और इसके बाद पौधे का रोपण करें आखिर में इसके ऊपर गंगाजल छिड़कर इसकी पूजा करें।

- शमी का पौधा अगर छत पर लगा रहे हैं, तो इसे दक्षिण दिशा में लगाना चाहिए।इसको कभी भी अंधेरे या फिर छाया वाली जगह पर न रखें।

- शमी का पौधा लगाने के बाद इस बात का भी ध्यान रखें कि ये पौधा मुरझाए ना। जी दरअसल ऐसा होने पर घर में नकारात्मक ऊर्जा आती है।

ससुराल की किस्मत चमका देती है डिंपल वाली लडकियां

राहु ग्रह को शांत करती है ये अंगूठी, आज ही करे धारण

कब है वैशाख माह का दूसरा प्रदोष व्रत? जानिए तिथि, पूजा का शुभ मुहूर्त

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -