इस भारतीय ने रखा शाहिद अफरीदी का नाम 'बूम बूम अफरीदी'

Aug 28 2018 11:52 AM
इस भारतीय ने रखा शाहिद अफरीदी का नाम 'बूम बूम अफरीदी'

नई दिल्ली : पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ओर ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी विश्व में एक विस्फोटक बल्लेबाज के रूप में मशहूर है. अफरीदी के नाम कई बड़े - बड़े रिकॉर्ड दर्ज है. जिनमें 37 गेंदों में शतक बनाने का रिकॉर्ड भी जुड़ा हुआ है. उनके खेलने के मिज़ाज़ के कारण विशव क्रिकेट में  उन्हें  'बूम बूम' अफरीदी के नाम से भी जाना जाता है.

ल्व्कीन आज हम आपको एक हैरान कर देने वाली सच्चाई बताने जा रहे है. सच्चाई यह है कि शाहिद को यह नाम किसी और ने नहीं बल्कि एक भारतीय क्रिकेटर ने ही दिया है. ज्ञात हो कि हाल ही में ट्विटर पर सवाल-जवाब के एक सेशन के दौरान शाहिद अफरीदी से सवाल किया गया कि आपके नाम के आगे बूम-बूम नाम किसने दिया. इस सवाल के जवाब में अफरीदी ने कहा, 'रवि शास्त्री ने'. 
 गौरतलब है कि शास्त्री टीम इंडिया के मौजूदा हेड कोच बने हुए है. आपको बता दें कि पिछले साल फरवरी में शाहिद अफरीदी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. 


शाहिद आफरीदी के करियर पर एक नज़र 
- पाकिस्तान की ओर से शाहिद अंतरराष्ट्रीय करियर में 398 वन-डे, 99 टी-20 और 27 टेस्ट मैच खेल चुके हैं. वन-डे मे अफरीदी ने अपने पुरे करियर में 6 शतक और 39 अर्धशतक की मदद से 8,064 रन बनाए हैं.
- 27 टेस्ट में अफरीदी ने 5 शतक और 8 अर्धशतक की मदद से 1,716 रन बनाए है. 
- इन रिकॉर्ड के अलावा अपनी गेंदबाज़ी से भी अफरीदी ने कहर ढाया है. अफरीदी ने वनडे में 395 विकेट, टेस्ट में 48 विकेट और टी-20 में 98 विकेट हासिल किये है.
- वनडे, टेस्ट और टी-20 मैचों में अफरीदी ने सबसे ज्यादा 476 छक्के लगाए हैं.

आपको याद दिला दें कि अफरीदी अपनी बल्लेबाज़ी के दौरान 37 गेंद पर शतक लगाने का रिकॉर्ड भी बना चुके है.  इस रिकॉर्ड को बनाने के दौरान अफरीदी केवल 16 साल के ही थे.  अफरीदी का यह रिकॉर्ड तक़रीबन 17 साल तक टिका रहा कोई भी बल्लेबाज़ इसके आस पास तक नहीं दिखा. 17 साल बाद इस रिकॉर्ड को न्यूजीलैंड के कोरी एंडरसन ने साल 2014 में तोड़ दिया था.

ख़बरें ओर भी...

पंत के साथ हुई नाइंसाफी का विराट ने लिया ब्रॉड से बदला

एशियन गेम्स 2018 : हिमा दास, अनस और दुती चंद ने जीता सिल्वर

जन्मदिन विशेष : सचिन में अपनी झलक देखते थे सर डॉन ब्रेडमैन

महान खिलाडी जॉर्ज ब्रैडमैन के सम्मान में गूगल ने बदला डूडल

1982 के बाद भारत ने जीता घुड़सवारी में मैडल

?