पढ़ाई से भागने के चक्कर में कई बार खाई टीचर्स की मार: तेंदुलकर

Feb 03 2016 05:40 PM
पढ़ाई से भागने के चक्कर में कई बार खाई टीचर्स की मार: तेंदुलकर

अमरावती. भारत के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने भी अपने एक बयान में दोहराया है कि में भी बचपन के दिनों में काफी शरारती हुआ करता था. सचिन ने कहा की जब में स्कुल में पढ़ाई करता था तो मेरा ध्यान अपनी स्टडी से कही अधिक खेल पर था. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सचिन ने आगे कहा की उस दौर में होमवर्क पूरा न करने पर मुझे बहुत सी बार सजा भी मिली, तथा क्लास से बाहर निकाले जाने पर मेने टीचर से मार तक खाई है.

इन सभी बातो का खुलासा मंगलवार को सचिन तेंदुलकर ने स्व. शुभ ताई वैद्य क्रीड़ा संकुल (स्टेडियम) के भूमिपूजन के लिए अमरावती पहुंचने पर दोहराई। इस दौरान सचिन तेंदुलकर ने बच्चो के बीच में रहकर अपने बचपन की कई यादें साझा कीं और उनके सवालों के जवाब दिए। सचिन ने कहा की में मुंबई के शारदा विद्या मंदिर में पढ़ने के दौरान मैं कई बार स्कूल से बंक मारकर स्विमिंग के लिए चला जाता था.

पढ़ाई से भागने के चक्कर में कई बार टीचर्स से डांट खाई और सजा भी भुगतनी पड़ी। मुझे क्रिकेट खेलने के लिए स्कुल के सर शिरसाट ने काफी प्रेरित किया. सचिन ने कहा की मेरी क्रिकेट के प्रति दीवानगी बचपन से ही थी. इस दौरान सचिन ने अपने पिता को भी याद करते हुए कहा कि ''मेरे पिताजी मुझे हमेशा अच्छा इंसान बनने के लिए प्रेरित करते थे। मैं आज जो कुछ भी हूं, उनसे मिली शिक्षा की वजह से ही हूं।"