फर्जी ग्राहक बनाकर पुलिस ने किया सेक्स रैकेट का पर्दाफाश

Apr 23 2015 02:21 AM

डील तय होने के बाद जब ग्राहक पैसे देने लगा तो उसी समय पुलिस आ गई और सभी को रंगे हाथों पकड़ लिया। उन्हें डेराबस्सी की अदालत में पेश करने के बाद 14 दिनों के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। थाना प्रभारी त्रिलोचन सिंह से मिली जानकारी के अनुसार जिस्मफरोशी के धंधे पर नकेल कसने के लिए SSP के निर्देशों से पुलिस मुहिम छेड़े हुए है।

इस बीच पंजाब नेशनल बैंक के समीप काफी देर से संदिग्ध हालात में रुकी हुई एक आल्टो कार में तीन लड़कियां व एक लड़के को देखा गया। SI अनूप सिंह ने एक पुलिसकर्मी को फर्जी ग्राहक बनाकर कार तक भेजा और कार में बैठी एक लड़की के लिए दस हजार रुपए की मांग की गई। लेकिन आखरी में सौदा 8 हजार रुपए में तय हुआ जिसकी पेशगी के तौर पर दो हजार रुपए थमाते ही पुलिस मौके पर आ पहुंची। 

उन्होंने पेशगी के साथ चारों को रंगेहाथ दबोच लिया। आरोपियों की पहचान गुरमीत सिंह उर्फ गोरा पुत्र जोगिंदर सिंह वासी अमृतसर, कुसुम पुत्री जय सिंह वासी अमरपुर, आजमगढ़, उत्तरप्रदेश, मुस्कार उर्फ ज्योति पुत्री सतनाम सिंह, अमृतसर और दलजीत कौर पुत्री बलजिंदर सिंह वासी लुधियाना के तौर पर हुई है। आरोपियों की आयु 20 से 25 वर्ष के बीच है जो फिलहाल मकान नंबर 36/38, शिवालिक सिटी, खरड़ में रह रहे थे।