केंद्र ने कहा नोटेबंदी के बाद 5400 करोड़ की अघोषित आय सामने आई

नई दिल्ली : नोटबंदी से 10 जनवरी तक 5400 करोड़ रुपए की अघोषित आय का पता लगा है. केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जांच एजेसियों द्वारा नोटबंदी के बाद की गई कार्रवाई के बारे में यह जानकारी शपथ पत्र पर दी.

उल्लेखनीय है कि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को जांच एजेसियों द्वारा नोटबंदी के बाद छापे की कार्रवाईऔर बरामदगी के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि 9 नवंबर से 30 दिसंबर, 2016 तक चली नोटबंदी के बाद आयकर विभाग ने ‘ऑपरेशन क्‍लीन मनी’ चलाया था. इसके तहत नोटबंदी के दौरान किए गए नकद जमा का विश्लेषण किया. जिसका विस्तृत ब्यौरा दिया गया.

बता दें कि वित्त मंत्रालय ने एक शपथ पत्र देकर बताया कि 9 नवंबर, 2016 से लेकर 10 जनवरी, 2017 तक विभाग ने 1100 से ज्‍यादा छापे मारे और सर्वे किए. इस दौरान बड़ी रकम नकद जमा करने वाले 5100 से भी ज्‍यादा लोगों को सत्यापन के लिए नोटिस भेजा गया. आयकर विभाग की आई-टी की इस छापेमारी और अन्‍य जांच एजेंसियों द्वारा कार्रवाई के चलते 610 करोड़ रुपए नकद और दूसरी चीजें जब्‍त की गईं. 610 करोड़ में से 110 करोड़ रुपए नई मुद्रा में बरामद किए गए.

पेश शपथ पत्र के अनुसार इन कार्रवाई के दौरान ही 5400 करोड़ रुपए की अघोषित आय का पता चला. यही नहीं 1100 छापेमारी और सर्वे के मामलों में से 400 मामले ईडी और सीबीआई को आगे की कार्रवाई के लिए सौंप दिए. जांच एजेंसियों की इस कार्रवाई से 18 लाख ऐसे लोगों का पता चला है, जिनकी आयकर विवरणी सही नहीं थी. 18 लाख लोगों में से 3.78 लाख गंभीर मामले हैं. जिनके खिलाफ जांच शुरू हो गई है.

यह भी देखें

मायावती के भाई के यहाँ इनकम टैक्स रेड

तमिलनाडु के स्वास्थ्य मंत्री के यहाँ छापा, 85 करोड़ मूल्य का सोना और साढ़े चार करोड़ बरामद

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -