15 अगस्त: गोवा के इस द्वीप पर ईसाई आबादी ने किया तिंरगा फहराने का विरोध

पणजी: देश की आजादी के 75 साल पूरे होने वाले हैं। ऐसे में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत देश के सभी आईलैंड पर तिरंगा फहराया जाने वाला था और इस क्रम में भारतीय नौसेना गोवा के साओ जैसिंटो द्वीप पर तिरंगा फहराने वाली थी, लेकिन स्थानीय लोगों के विरोध के बाद नौसेना ने अपनी योजना को स्थगित किया है। हाल ही में सामने आई एक रिपोर्ट को माने तो इस द्वीप पर रहने वाले स्थानीय लोगों ने केंद्र सरकार के निर्णय का विरोध किया और कहा, 'वे केंद्र या राज्य सरकार की किसी गतिविधि को द्वीप पर नहीं होने देना चाहते हैं।'

उनके इस विरोध के बाद इंडियन नेवी ने अपने प्लान को ड्रॉप कर दिया। वहीँ अब यहाँ के लोगों ने यह दावा किया है कि वे तिरंगा फहराने के विरोध में नहीं हैं, लेकिन वे खुद झंडा फहराएँगे। बीते शुक्रवार को नौसेना ने एक बयान जारी करते हुए कहा, 'आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के तहत रक्षा मंत्रालय ने 13 से 15 अगस्त 2021 के बीच देश भर के द्वीपों में राष्ट्रीय ध्वज फहराने की योजना बनाई है।' इसी के साथ भारतीय नौसेना ने अपने बयान में यह भी कहा, “गोवा नौसेना क्षेत्र की एक टीम ने इस अखिल भारतीय पहल के तौर पर साओ जैसिंटो द्वीप सहित गोवा के द्वीपों का दौरा किया। हालाँकि, जैसिंटो द्वीप पर योजना को रद्द करना पड़ा, क्योंकि निवासियों ने इसका विरोध किया था। देशभक्ति की भावना पैदा करने और आजादी के 75वें वर्ष का जश्न मनाने के लिए यह पहल देश भर में की गई है।”

आप सभी जानते ही होंगे कि सैन जैसिंटो द्वीप पणजी के दक्षिण में स्थित है। इस द्वीप पर अधिकतर ईसाई लोग रहते हैं और यहाँ पोलैंड के सेंट हयासिंथ (साओ जैसिंटो) और सेंट डोमिनिक (साओ डोमिंगो) को समर्पित दो चर्च हैं। ऐसे में द्वीप के निवासियों ने प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है, और पर्यटकों को यात्रा करने की अनुमति नहीं है।

महाराष्ट्र: यहाँ महिलाओं से की जा रही 3 महीने तक गर्भधारण से बचने की अपील, बांटे जा रहे कॉन्डम

75वें स्वतंत्रता दिवस पर 1,380 पुलिसकर्मियों को वीरता-सेवा पदक से किया जाएगा सम्मानित

15 अगस्त पर दिल्ली में लैंड नहीं हो पाएंगी ये फ्लाइट्स

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -