बार-बार गर्भपात कराना हो सकता है खतरनाक

बार-बार गर्भपात कराना हो सकता है खतरनाक

अक्सर लोग अनचाहे गर्भ को गिराने के लिए गर्भपात करवाते हैं लेकिन कई लोग इस बात से अंजान की बार-बार गर्भपात कराना जीवन के लिए खतरनाक है। लगातार गर्भपात करवाने से भविष्य मे प्रेग्नेंसी के टाइम बहुत सी परेशानी आती हैंं।

यह देखा गया है कि जो महिलाएं अधिक गर्भपात कराती हैं उनमें अवधि पूर्व जन्म और शिशु का वजन कम होना आदि परेशानियां पैदा होती हैं, जिन महिलाओं ने 3 से ज्यादा बार गर्भपात कराया है। उनकी गर्भाशय ग्रीवा के लिए खतरा है और जल्दी गर्भपात भी हो सकता है, बहुत से महिलाओं को आजकल अस्थानिक गर्भावस्था, बांझपन या बच्चे के जन्म की परेशानी आदि समस्याएं आती हैं। बांझपन का मतलब है कि 12 माह की कोशिशों के बावजूद भी बच्चा नहीं हो पता। लेकिन महिलाओं में बांझपन होने के कई वजह होती हैं। 

गर्भपात करवाने से होता है नुकसान

बच्चा गिरना

क्या आपको पता है गर्भपात कराने से गर्भाशय ग्रीवा क्षतिग्रस्त हो जाती है जिसके चलते आगे गर्भपात में परेशानी होती है। अगर गर्भपात के दौरान बच्चेदानी खराब हो जाती है तो यह बच्चे के लिए और आपके लिए खतरनाक होता है।

समय पूर्व प्रसव होना

ज्यादा गर्भपात कराने से पूर्व प्रसव के अवसर बढ़ जाते हैं और गर्भ नाल इससे गलत रूप से बढ़ जाती है।

अस्थानिक गर्भावस्था

अगर आप ज्यादा बार गर्भपात कराते है तो अस्थानिक गर्भधारण का खतरा होता है। अस्थानिक गर्भावस्था जीवन के लिए खतरनाक होता है और इससे प्रजनन क्षमता भी कम हो सकती है।

पेडू के सूजन

पेडू के सूजन की बीमारी अधिक गर्भपात करने की वजह से होता है। पीआईडी बहुत ही खतरनाक बीमारी है जिसकी वजह से बांझपन भी हो सकता है। यह फैलोपियन ट्यूब के ऊतकों पर घाव पैदा कर सकती है, जिससे प्रजनन क्षमता में कमी होती है।

एन्डोमिट्राइटिस

20 से 29 वर्ष की महिलाएं खास तौर पर इसकी शिकार ज्यादा होती हैं।

गर्भाशय में छेद होना

2-3 प्रतिशत मरीजों में यह परेशानी होती है जो महिलाएं पहले बच्चे को जन्म दे चुकी हैं। उनमें यह अधिक देखा गया है। इस समस्या से प्रभावित मरीजों में कई बार गर्भपात के दौरान सामान्य एनेस्थेसिया भी देना पड़ता है।