57 मदरसों की मान्यता निरस्त करने की सिफारिश

ठाकुरद्वारा/मुरादाबाद : यूपी में योगी सरकार के आने के बाद तहसील में संचालित 69 मदरसों की जांच जिला अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने की तो कई अनियमितताएं सामने आई.57 मदरसे मदरसा बोर्ड के मानक पर खरे नहीं उतरे.अब इन मदरसों की मान्यता निरस्त करने की अनुशंसा की गई है.

उल्लेखनीय है कि जिला अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की तीन सदस्यीय जाँच समिति ने मदरसों का स्थलीय निरीक्षण करने के साथ ही रजिस्टर्ड सोसायटी और भूमि संबंधी प्रपत्रों की जाँच की तो अधिकांश मदरसा संचालक दस्तावेज नहीं पेश कर सके. कई मदरसे तो सिर्फ कागजों पर चलते पाए गए ,उनमें बच्चे और अध्यापक भी नहीं थे. इस बारे में उप जिलाधिकारी शैलेंद्र सिंह ने बताया कि तहसील में संचालित 69 मदरसों की जांच में सिर्फ बारह मदरसों को सही पाया गया. 57 मदरसों के पास सिर्फ मान्यता थी, लेकिन मदरसा शिक्षा परिषद के मानक के अनुसार रिकार्ड नहीं मिलने पर इन 57 मदरसों की मान्यता निरस्त करने की संस्तुति कर रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी गई है.

बता दें कि ऐसा ही हाल ठाकुरद्वारा में भी देखने को मिला. जिला अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की जाँच समिति ने पिछले करीब छह माह से मदरसों के स्थलीय निरीक्षण के साथ जांच की तो दर्जनों मदरसे मौके पर ही नहीं मिले. जाहिर है कि मदरसों के नाम पर फर्जीवाड़ा किया जा रहा था.एसडीएम के अनुसार मदरसा संचालकों से प्राप्त रिकार्ड के अनुसार राजस्व विभाग से जांच कराई तो कई मदरसे भूमिहीन मिले.मदरसों की रिपोर्ट अब जिलाधिकारी को भेजी गई है.

यह भी देखें

समाज में अपनी छवि गढ़ते सीएम योगी

मदरसे में मौलाना की शर्मनाक करतूत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -