दुष्कर्म: सजा-ए- मौत पर मुहर की संभावना आज

देश में लगातार बाद रहे दुष्कर्म के मामलों और हालिया घटित कठुआ में 8 साल की मासूम बच्ची के साथ बलात्कार के बाद से कई लोग ऐसे अपराध के लिए फांसी की सजा की मांग कर चुके हैं. मेनका गांधी ने जब इस प्रस्ताव के बारे में कहा तो उन्हें हर तरफ से इसको लेकर समर्थन मिला. नाबालिगों से बलात्कार की बढ़ती घटनाओं को लेकर राहुल गांधी ने भी ट्वीट करके प्रधानमंत्री का ध्यान इस ओर खींचा था.

अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने कहा था कि सिर्फ 2016 में ही नाबालिग बच्चियों के साथ बलात्कार के 19675 मामले हुए. उन्होंने कहा था कि प्रधानमंत्री को इन मामलों में तेजी से सुनवाई करके पीड़ितों को न्याय दिलाने का उपाय करना चाहिए.उम्मीद है कि शनिवार को कैबिनेट की बैठक में 'प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस' यानी पॉक्सो एक्ट में संशोधन को मंजूरी मिल जाएगी, जिसके बाद 12 साल से कम की बच्चियों के बलात्कार के दोषी लोगों को मौत की सजा दिए जाने का रास्ता साफ हो जाएगा.

महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी ने हाल में ही कहा था कि वो कठुआ और हाल में हुई दूसरी बलात्कार की घटनाओं से बहुत दुखी हैं और उनका मंत्रालय बहुत जल्दी ही पॉक्सो एक्ट में संशोधन का प्रस्ताव कैबिनेट के सामने पेश करेगा. फिलहाल इस कानून में दोषियों के लिए मौत की सजा का प्रावधान नहीं है.

छात्रा को अश्लील मैसेज भेजने वाला जूनियर फादर गिरफ्तार

नोएडा में पुलिस को मिली लावारिश लाश

दिल्ली में घर में मिली लाश परिजनों पर शक

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -