22 किसान संगठन लड़ेंगे पंजाब का चुनाव, अब राजनीति में उतरने पर राकेश टिकैत ने दिया जवाब

अमृतसर: पंजाब में विधानसभा चुनाव लडने के लिए सियासी मोर्चा बनाने वाले किसान संगठनों से दूरी बनाते हुए भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) कोई चुनाव नहीं लड़ने जा रहा है. उन्होंने यह भी कहा कि चुनावी मैदान में उतरने वाले किसान संगठनों से हमारा कोई वास्ता नहीं है. जाट समाज के प्रतिभा सम्मान में शामिल होने आए टिकैत से जब यूपी विधानसभा चुनाव के बारे में पूछा गया तब उन्होंने कहा कि, ‘आचार संहिता लगने के बाद बताएंगे, हमे वहां पर क्या करना है.’ 

हालांकि टिकैत ने यह भी कहा है कि किसान 'किंग मेकर' की भूमिका में रहेंगे. जब टिकैत से पंजाब में विधानसभा चुनाव में संयुक्त मोर्चा के चुनाव लडने के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि, ‘संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) कोई चुनाव नहीं लड रहा. हम सियासत में नहीं आएंगे.’ बता दें कि किसानों के 22 संगठनों ने शनिवार को अगले साल राज्य में होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में उतरने की घोषणा की है. इन संगठनों ने मिलकर संयुक्त समाज मोर्चा (Sanyukt Samaj Morcha) नाम से एक चुनावी संगठन भी बनाया है. संयुक्त समाज मोर्चा पंजाब की सभी 117 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगा.

इस पर टिकैत ने कहा कि, ‘मैं राजनीति में नहीं उतर रहा हूं और संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) कोई चुनाव नहीं लड़ेगा. जो चुनाव लड़ रहे हैं वो अपनी निजी क्षमता से लड़ें. उनका हमसे कोई लेना-देना नहीं है. हमारा कोई सियासी मंच नहीं है.’ पंजाब में राजनीतिक मोर्चा बनाने वाले किसान संगठनों पर टिकैत ने कहा कि, ‘हम 15 जनवरी को एक मीटिंग कर रहे हैं और फिर हम इस बारे में बात करेंगे.’ बता दें कि पंजाब के किसान संगठनों ने आगामी विधानसभा चुनावों में अपनी किस्मत आजमाने का फैसला किया है.

क्रिकेट को अलविदा कह भज्जी बोले- 'दूसरा चैप्टर शुरू हो रहा है..', क्या कांग्रेस का दामन थामेंगे ?

'समाजवादी इत्र' से फैली भ्रष्टाचार की बू, IT के छापे में मिले 150 करोड़ कैश.. अखिलेश ने किया था लॉन्च

हरीश रावत ने पहले भी कहा था- चुनाव नहीं लडूंगा, लेकिन फिर लड़े: हरक सिंह रावत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -