आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में बारिश का कहर, एक्शन में पीएम मोदी

आंध्र प्रदेश के YSR कडप्पा जिले में कम दबाव का इलाके बनने की वजह से हुई भारी वर्षा और बाढ़ के कारण 12 लोगों की जान चली गई है तथा कई अन्य लापता हैं। पुलिस ने कहा है कि जिले के राजमपेट डिवीजन के नंदलुरु, मंडवल्ली और आकापाडु गांवों में बाढ़ के पानी में APSRTC की तीन बसें फस चुकी है। चेयुरु जलाशय के टूटने की वजह से बाढ़ का पानी सड़कों पर भर गया था, जिसमें ये बसें भी डूब गईं। तमिलनाडु और केरल में भी भारी वर्षा से लोगों का जीवन मुश्किल में पड़ गया है। कहीं घर गिरने से लोगों की जान चली गई है तो सबरीमाला मंदिर भी एक दिन के लिए बंद कर दिया है। आंध्र प्रदेश के खराब हालात देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी ने सीएम वाई एस जगनमोहन रेड्डी से बात कर चुके है।

पीएम मोदी ने आंध्र प्रदेश के सीएम से की बात:  पीएम नरेंद्र मोदी ने आंध्र प्रदेश के कुछ भागों में भारी वर्षा व इससे पैदा हुई बाढ़ की स्थिति के मद्देनजर सीएम वाई एस जगनमोहन रेड्डी से बात की और उन्हें हरसंभव केंद्रीय सहायता का आश्वासन दिया। ज्ञात हो कि आंध्र प्रदेश के कडप्पा जिले में शुक्रवार को अचानक आई बाढ़ में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई जबकि कुछ लोगों के इसमें बह जाने की आशंका जताई गई है। पीएम ने एक ट्विटर में कहा, ''आंध्र प्रदेश के सीएम वाई एस जगनमोहन रेड्डी से राज्य के कुछ हिस्सों में भारी वर्षा से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर बात की। हरसंभव केंद्रीय सहायता का आश्वासन दिया।''

उन्होंने सभी के कुशल क्षेम व सुरक्षा की कामना की। बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का इलाके बनने की वजह से हुई भारी वर्षा से राज्य में कुछ नदियां उफान पर हैं और इससे चित्तूर और कडप्पा में कई वर्षों की सबसे भयानक बाढ़ आ गई। राष्ट्रीय आपदा मोचन दल और राज्य आपदा मोचन बल के दल बचाव एवं राहत कार्य में जुटे हैं।

कृषि कानूनों की वापसी के बाद अगला प्लान क्या ? आज किसान संगठनों की महाबैठक

भूकंप के झटकों से डोला राजस्थान, जानिए क्या रही तीव्रता

आज DGP कांफ्रेंस में हिस्सा लेंगे पीएम मोदी, सुरक्षा मुद्दों पर होगी अहम चर्चा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -