+

इनकम टैक्स की छापेमारी से प्याज कारोबारियों की चिंता बढ़ी

Nov 12 2019 05:04 PM
इनकम टैक्स की छापेमारी से प्याज कारोबारियों की चिंता बढ़ी

नई दिल्ली: प्याज कारोबारियों के गोदामों व दुकानों पर देशव्यापी छापेमारी के बाद मंडियों में घबराहट के बीच मंगलवार को प्याज की कीमतों में 5-10 रुपये प्रति किलो की गिरावट रिकॉर्ड की गई। प्याज की जमाखोरी की सूचना मिलने पर सोमवार को आयकर विभाग ने प्याज कारोबारियों के खिलाफ देशव्यापरी छापेमारी आरंभ की।

सूत्रों ने बताया है कि प्याज की आवक बढ़ने के बाद भी कीमत बढ़ने के पीछे जमाखोरी व सट्टेबाजी की जानकारी पर आयकर विभाग ने देशभर में प्याज कारोबारियों के प्रतिष्ठानों पर सोमवार से छापेमारी आरंभ की, जो कि मंगलवार को भी जारी रही। व्यापारिक सूत्रों ने बताया है कि आयकर विभाग की छापेमारी से मंडियों में घबराहट है, जिसकी वजह से देश की राजधानी दिल्ली स्थित आजादपुर मंडी में मंगलवार को प्याज की आवक कम रही।

आजादपुर मंडी में प्याज का थोक भाव 30-50 रुपये प्रति किलो था, जबकि एक दिन पूर्व मंडी में प्याज 40-55 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिका। प्याज की आवक मंगलवार को लगभग 1,500 टन रही, जबकि एक दिन पहले आवक 2,000 टन के लगभग थी। आपको बता दें कि प्याज की महंगाई को नियंत्रण करने के लिए हाल ही में सरकार ने एक लाख टन प्याज आयात करने का फैसला लिया है और विदेश व्यापार करने वाली देश की सबसे बड़ी सरकारी कंपनी MMTC  ने प्याज आयात के दो टेंडर भी जारी कर दिए हैं।

प्याज की कीमत में आया फिर उछाल, MMTC की निविदाएं जारी

व्यापार मेले का उद्घाटन करेंगे नितिन गडकरी, मुख्य विषय होगा ‘कारोबार सुगमता’

जगुआर-लैंड रोवर में अपनी हिस्सेदारी बेचना चाह रहा है टाटा समूह, BMW और जिली से शुरू की बातचीत