नेशनल हैराल्ड की जांच से गिर सकती है कांग्रेस के कर्णधारों पर गाज

Sep 19 2015 12:36 PM
नेशनल हैराल्ड की जांच से गिर सकती है कांग्रेस के कर्णधारों पर गाज

नई दिल्ली : कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मुश्किलें बढ़ने की संभावनाऐं हैं। दरअसल प्रवर्तन निदेशालय द्वारा इन दोनों के विरूद्ध जांच की जा सकती है। माना जा रहा है कि वर्षों पुराने नेशनल हैराल्ड केस के मामले में इन दोनों के खिलाफ लगे आरोपों को लेकर जांच की जाएगी। दरअसल इस कंपनी को नियमों को दरकिनार करते हुए ब्याज दिए जाने की बात सामने आई है। दूसरी ओर यह बात भी सामने आई है कि पं. जवाहर लाल नेहरू द्वारा प्रारंभ किए गए नेशनल हैराल्ड अखबार को 2008 में आर्थिक संकट के चलते बंद होना पड़ा।

इसके बाद इसे यंग इंडिया कंपनी ने अधिग्रहित कर लिया। इस कंपनी में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की हिस्सेदारी बढ़ गई। मामले में यह बात सामने आई कि प्रवर्तन निदेशालय के पूर्व निदेशक राजन कटोच द्वारा तकनीकी कारणों को लेकर सोनिया, राहुल के विरूद्ध केस न करने बात सामने आई और फिर इस मामले को बंद कर दिया गया।

मामले में यह बात सामने आई कि ईडी का प्रभार जनरैल सिंह को मिलते ही रीओपन कर दिया गया। इस मामले में भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी द्वारा आरोप लगाया गया की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को बचाने का प्रयास किया गया। मगर अब सरकार ने फिर से इस मामले को देखने की बात की। मामले में कांग्रेस नेता पुनिया ने कहा कि केंद्र सरकार जानबूझकर कांग्रेस के नेताओं को निशाने पर ले रही है और उन्हें भ्रष्टाचार के मामलों में फंसाने की बात कर रही है।