प्यार से डर लगता है

प्यार से डर लगता है

दिल से रोउ तो आराम मिलता है।

इस दुनिया में कहा किसी को सच्चा प्यार मिलता है।

जिंदगी ख़त्म हो जाती है सच्चा प्यार करने में,

एक जख्म भरता नहीं की, दूसरा तैयार मिलता है।

दिन से नहीं रात से डर लगता है।

घर है मिटटी का बरसात से डर लगता है।

हर तोहफे ने मुझे दर्द ही दिया है।

जिंदगी से नहीं दुनिया की सौगात से डर लगता है।

इश्क छोड़ कर कोई और बात करो,

मुझे प्यार की हर एक निशानी से डर लगता है।