दिवाली के दिन करे राशि के अनुसार पूजन

हिन्दु धर्म में प्रमुख तीन देवियों में से एक मां महालक्ष्मी हैं. महालक्ष्मी के अलग अलग रूपों को बहुत सारे पर्वों पर पूजा जाता है. इस पर्वों में दीपावली उत्सव भी शामिल है. आप अपनी राशि के अनुसार मां महालक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए प्रायोजन कर सकते हैं. 

1-मेष राशि जातकों को निम्नलिखित मंत्र का उच्चारण करते हुए मां लक्ष्मी की पूजा करनी चाहिए, विशेषकर दीपावली के पवित्र पर्व के आस पास तो अनिवार्य रूप में. इससे सकारात्मक परिणाम मिलेंगे. ओम श्री लक्ष्मी देवायाय नमः 

2-वृषभ जातकों को देवी मोहिनी स्वरूप का ध्यान करते हुए निम्न दिए मंत्र का जाप करना चाहिए. ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद:प्रसीद:श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्म्यै नम:

3-मिथुन राशि जातकों को पदमाक्षी देवी की उपासना करनी चाहिए. साथ ही, लक्ष्मी चालीसा का पाठ अवश्य करें . 

4-कर्क राशि जातकों को कमला देवी की उपासना करनी चाहिए. साथ ही, कनकधारा स्तोत्र का पाठ भी करना चाहिए. 

5-सिंह राशि जातकों को लक्ष्मी देवी का क्रांतिमति देवी स्वरूप का ध्यान करना चाहिए एवं उनका मंत्र करना चाहिए.

6-कन्या राशि जातकों को अपराजिता देवी का स्वरूप का ध्यान करना चाहिए एवं उसके लिए निम्न मंत्र करना चाहिए.ॐ महालक्ष्मी च विदमहे, विष्णुपत्नी च धीमहि. तन्नो लक्ष्मी प्रचोदयात.

7-तुला राशि जातकों को पदमावती देवी का स्वरूप का ध्यान करना चाहिए एवं निम्न दिए मंत्र का जाप करें. 

8-वृश्चिक राशि के जातकों को राधा देवी का स्वरूप को ध्यान करना चाहिए. श्री सुक्त का पाठ नियमित करें. 

9--धनु राशि के जातकों को विशालक्षी देवी के स्वरूप का ध्यान करना चाहिए. कमल के बीज , शुद्घ घी एवं सुखा मेवे को मिश्रित कर हर एकादशी को लक्ष्मी होम करवाएं. 

10-मकर राशि जातकों को लक्ष्मी देवी के स्वरूप का ध्यान करना चाहिए. हर रोज लक्ष्मी यंत्र एवं उनकी फोटो पर गुलाब, कमल एवं चंपा पुष्प माला अर्पित करनी चाहिए. 

11-कुंभ राशि जातक के लिए रुकमणि देवी के स्वरूप का ध्यान करना चाहिए. बिलवा वृक्ष के फल से लक्ष्मी होम करें.

12-मीन राशि जातकों को विलक्ष्णा देवी के स्वरूप का पूजन करना चाहिए. स्फटिक श्री यंत्र की पूजा करनी चाहिए एवं उस पर रोज गुगल की धूप करें. 

दिवाली के दिन खुले रखे घर के खिड़की और...

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -