डीडीसीए भ्रष्टाचार जांच समिति पर मचा बवाल

Jan 11 2016 05:52 PM
डीडीसीए भ्रष्टाचार जांच समिति पर मचा बवाल

नईदिल्ली। दिल्ली की राजनीति में एक बार फिर बवाल मच गया है। इस बार भी राजनीति डीडीसीए के मसले पर ही गर्मा गई है। हालांकि इस बार यह मामला जांच दल समिति के अध्यक्ष पद के लिए की गई नियुक्ति को लेकर हुआ है। डीडीसीए की जांच हेतु गठित की गई तीन सदस्यीय कमेटी के अध्यक्ष चेतन सांघी नियुक्त किए गए। इस नियुक्ति पर भारतीय जनता पार्टी ने अपनी आपत्ती जताई है।

भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता ने आरोप लगाया है कि चेतन सांघी की रिपोर्ट में दबाव के कारण अरूण जेटली का नाम शामिल कर दिया गया। चेतन सांघी द्वारा लिखे गए पत्र का भी हवाला दिया गया है। जिसमें दिल्ली राज्य के गृहसचिव को भी पत्र लिखा गया है। डीडीसीए घोटाले की जांच रिपोर्ट में जेटली का नाम सम्मिलित किया गया। इस तरह का पत्र 28 दिसंबर का बताया जा रहा है।

जिसमें सांघी ने दिल्ली सरकार पर आरोप लगाया कि डीडीसीए घोटाले में वीआईपी का नाम शामिल किए जाने पर दबाव बनाया गया था। भाजपा द्वारा आरोप लगाया गया कि वीआईपी वित्तमंत्री अरूण जेटली हैं। भारतीय जनता पार्टी द्वारा कहा गया कि आम आदमी पार्टी की सरकार शुरू से ही तथ्यों के प्रस्तुतिकरण के बिना ही केंद्रीय वित्तमंत्री जेटली का नाम उछाल रही है। ऐसे में जेटली की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है।