मयखाना नहीं मिला तो छोड़ दिया जीना

मयखाना नहीं मिला तो छोड़ दिया जीना
Share:

पटना : बिहार में राज्य में सरकार द्वारा शराब बंदी का निर्णय लेने के बाद भी लोग शराब नहीं छोड़ पा रहे हैं। हालात ये हैं कि पुलिसकर्मी शराब न मिल पाने के कारण शराब बंदी के बाद दो दिन में ही करीब 2 लोगों की मौत हो गई। दरअसल कई लोग नशा मुक्ति केंद्र का रूख कर रहे हैं। बुधवार की देर रात सासाराम में बीएमपी के जवान ने शराब छोड़ दी लेकिन इसके बाद वह स्वयं को नियंत्रित नहीं कर पाया, तो उसने जहर खाकर अपनी जान दे दी।

दूसरी तरफ मोतिहारी में एक पुलिस जमादार ने शराब छोड़ने का प्रयास किया, मगर वह शराब के गम में ही मर गया। मिली जानकारी के अनुसार पूर्वी चंपारण जिले के कुंडवा-चैनपुर थाने में पदस्थापित जमादार रघुनंदन बेसरा की मौत हो गई थी। दरअसल रघुनंदन की मौत उपचार के दौरान हुई। बीते मंगलवार को ढाका में तबीयत खराब होने के चलते वे बेहोश हो गए।

रघुनंदन का उपचार पीएमसीएच में चल रहा है। दरअसल दो माह से वे शराब नहीं पी रहे थे। जिसके बाद वे बीमार हो गए। इस दौरान चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा कहा गया कि वे पहले शराब का सेवन करते थे और अचानक शराब छोड़ने के चलते इस तरह की घटना हो गई। 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -