चंद्रयान-3 की लैंडिंग में वर्चुअली जुड़ेंगे पीएम मोदी, साउथ अफ्रीका से देखेंगे ISRO का प्रयास
चंद्रयान-3 की लैंडिंग में वर्चुअली जुड़ेंगे पीएम मोदी, साउथ अफ्रीका से देखेंगे ISRO का प्रयास
Share:

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दक्षिण अफ्रीका से चंद्रयान-3 सॉफ्ट लैंडिंग कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल होंगे। मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से यह जानकारी सामने आई है। बता दें कि, पीएम मोदी 15वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए दक्षिण अफ्रीका की तीन दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर हैं। आधिकारिक सूत्रों ने कहा है कि, "प्रधानमंत्री चंद्रयान लैंडिंग के दौरान इसरो से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे।"

बता दें कि, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) का तीसरा चंद्र मिशन, चंद्रयान-3, बुधवार शाम लगभग 6:04 बजे चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर उतरने वाला है। यदि लैंडर लैंडिंग में सफल रहता है, तो यह पहली बार होगा कि किसी देश के अंतरिक्ष यान ने इस क्षेत्र में सॉफ्ट लैंडिंग की है। इसरो वैज्ञानिकों ने मंगलवार शाम को कहा कि चंद्रयान-3 अंतरिक्ष यान सॉफ्ट लैंडिंग का प्रयास करने के लिए निर्धारित समय पर है। अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि सभी प्रणालियों की नियमित जांच हो रही है और सुचारू संचालन जारी है। दक्षिणी ध्रुव पर लैंडर की सॉफ्ट लैंडिंग एक चुनौतीपूर्ण कार्य है क्योंकि यह बेहद ऊबड़-खाबड़ और पहाड़ी इलाका है। बताया गया कि लैंडिंग ऑपरेशन का सीधा प्रसारण शाम 5:20 बजे शुरू होगा।

इस बीच, अहमदाबाद में इसरो के अंतरिक्ष अनुप्रयोग केंद्र के निदेशक नीलेश एम. देसाई ने कहा कि बुधवार को चंद्रयान-3 को उतारना उचित होगा या नहीं, इस पर अंतिम निर्णय लैंडर मॉड्यूल की स्थिति और चंद्रमा पर स्थितियों के आधार पर लिया जाएगा। . उन्होंने आगे कहा कि अगर परिस्थितियां अनुकूल नहीं रहीं तो लैंडिंग को 27 अगस्त तक आगे बढ़ाया जा सकता है। बता दें कि, चंद्रयान-3, जिसका उद्देश्य चंद्रमा की भूविज्ञान, उसके जल संसाधनों और भविष्य में मानव अन्वेषण के लिए इसकी क्षमता का अध्ययन करना है, को 14 जुलाई को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से लॉन्च किया गया था और इसने 5 अगस्त को चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश किया। मिशन में शामिल हैं एक लैंडर, एक रोवर और एक प्रणोदन मॉड्यूल।

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सीपीएम विधायक एसी मोईदीन के ठिकानों पर ED की रेड

ममता सरकार ने बढ़ाया इमामों और पुजारियों का मासिक वेतन

जानिए दुनिया के कितने देश कर चुके है चाँद पर सॉफ्ट लैंडिंग, अब भारत कर रहा प्रयास

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -