Share:
प्रधानमंत्री मोदी ने 82 वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों की बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया
प्रधानमंत्री मोदी ने 82 वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारियों की बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज (17 नवंबर) को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए 82वें अखिल भारतीय पीठासीन अधिकारी सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में शामिल हुए। इस कार्यक्रम में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और राज्यसभा के उपाध्यक्ष हरिवंश नारायण सिंह भी मौजूद थे।

प्रधानमंत्री ने समारोह में बोलते हुए कहा, भारत में लोकतंत्र व्यवस्था सबसे बढ़कर है। भारत की प्रकृति और स्वाभाविक प्रवृत्ति लोकतांत्रिक  है। भविष्य के वर्षों में हमें देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाना चाहिए । केवल 'सबका प्रयास' (हर किसी का प्रयास) इन संकल्पों को सफल करेगा। जब हम भारत के लोकतंत्र और संघीय व्यवस्था में ' सबका प्रयास ' की बात करते हैं, तो राज्य महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि देश की संघीय व्यवस्था में राज्यों की महत्वपूर्ण भूमिका को रेखांकित करते हुए लोकतंत्र केवल एक ढांचा नहीं है, बल्कि भारत में स्वाभाविक प्रवृत्ति है ।

पीएम मोदी ने  कहा कि हर किसी के प्रयासों के परिणामस्वरूप राष्ट्र अभूतपूर्व ऊंचाइयों पर पहुंच गया है । "चाहे वह पूर्वोत्तर में लंबे समय से चले आ रहे संघर्षों का समाधान हो या दशकों से रुकी हुई प्रमुख विकास परियोजनाओं को पूरा करना हो, राष्ट्र ने पिछले कुछ वर्षों में इस प्रकृति की अनगिनत पहल पूरी की है । COVID के खिलाफ राष्ट्र का संघर्ष सबसे अच्छा उदाहरण है "

प्रदूषण पर केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दिया हलफनामा, 'वर्क फ्रॉम होम' को लेकर कही ये बात

117 बार कटा फरीद खान का चालान, लेकिन एक बार भी नहीं भरा जुर्माना.. अब हुई ये कार्रवाई

अचानक पलटी नाव, गंगा नदी में गई 4 लोगों की जान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -