'PoK के लोग खुद भारत के साथ रहने की मांग करेंगे..', राजनाथ सिंह ने बताया कारण
'PoK के लोग खुद भारत के साथ रहने की मांग करेंगे..', राजनाथ सिंह ने बताया कारण
Share:

कोलकता: केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत में हो रहे विकास को देखते हुए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (PoK) के लोग खुद भारत के साथ रहने की मांग करेंगे। सिंह ने रविवार को पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, "चिंता मत करो। पीओके हमारा था, है और हमारा रहेगा।" इस सीट से भाजपा ने मौजूदा सांसद राजू बिस्ता को उम्मीदवार बनाया है।

सिंह ने आगे कहा कि, "भारत की ताकत बढ़ रही है, दुनिया भर में भारत की प्रतिष्ठा बढ़ रही है और हमारी अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ रही है। अब PoK में हमारे भाई-बहन खुद भारत के साथ आने की मांग करेंगे।" रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी संदेशखाली में हाल की घटनाओं पर तृणमूल कांग्रेस (TMC) की आलोचना करते हुए कहा कि जिस सरकार में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं, उसे सत्ता में नहीं रहना चाहिए। राजनाथ सिंह ने कहा कि, "पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति काफी हद तक खराब हो चुकी है। अगर आप किसी भी राज्य का विकास करना चाहते हैं तो सबसे पहली शर्त वहां की कानून और स्थिति को सुधारना है। लेकिन बंगाल में हालात अलग हैं। संदेशखाली की घटनाओं को देखिए। जिस सरकार के शासन में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं, उसे सत्ता में नहीं रहना चाहिए।''

इस बीच, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज सोमवार को सियाचिन के लिए रवाना हुए, जहां वह क्षेत्र में तैनात सशस्त्र बलों के साथ बातचीत करेंगे। एक्स पर एक पोस्ट में, राजनाथ सिंह ने लिखा कि, "सियाचिन के लिए नई दिल्ली से प्रस्थान कर रहा हूं। वहां तैनात हमारे साहसी सशस्त्र बल कर्मियों के साथ बातचीत करने के लिए उत्सुक हूं।" रक्षा मंत्री की सियाचिन यात्रा भारतीय सेना द्वारा प्रसिद्ध 'ऑपरेशन मेघदूत' की 40वीं वर्षगांठ मनाने के एक सप्ताह बाद हो रही है, जिसे भारतीय सेना ने सियाचिन ग्लेशियर पर कब्जा करने के पाकिस्तान के प्रयासों को विफल करके उस पर नियंत्रण हासिल करने के लिए चलाया था।

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (TMC) का परंपरागत रूप से एक मजबूत गढ़ रहा है। 2014 के लोकसभा चुनावों में, TMC राज्य में 34 सीटें हासिल करके प्रमुख ताकत के रूप में उभरी थी। इसके विपरीत, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) केवल 2 सीटें जीतने में सफल रही थी। जबकि, CPIM और कांग्रेस ने क्रमशः 2 और 4 सीटें जीतीं थीं। हालाँकि, 2019 के चुनावों में राजनीतिक परिदृश्य में एक महत्वपूर्ण बदलाव देखा गया। भाजपा ने 18 सीटें जीतीं, जो उनकी पिछली सीटों से काफी अधिक था। TMC, हालांकि इस बार भी बढ़त में थी, लेकिन उनकी सीटों की संख्या घटकर 22 रह गई। कांग्रेस का प्रतिनिधित्व केवल 2 सीटों पर सिमट गया, जबकि वाम मोर्चा कोई भी सीट हासिल करने में असमर्थ रहा था। पश्चिम बंगाल में सातों चरणों में वोटिंग हो रही है. दार्जिलिंग में 26 अप्रैल को लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में मतदान होना है। वोटों की गिनती 4 जून को होगी। 

मध्य पूर्व में नहीं थम रही तकरार, अब इराक ने सीरिया पर किया प्रहार, दागे 5 रॉकेट

यूपी के मंत्री संजय निषाद पर सपा समर्थकों ने किया हमला ! हुए जख्मी

फ़ैयाज़ ने की कांग्रेस नेता की बेटी की निर्मम हत्या, पिता को अपनी ही सरकार पर भरोसा नहीं ! बोले- CBI को सौंपी जाए जांच

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -