पत्थरों के मुकद्दर

ोई तो है जो फैसला करता है
पत्थरों के मुकद्दर का..., ..
किसे ठोकरों पे रखना है, 
किसे भगवान होना है.!!!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -