पत्थर नज़र आता हैं

क अजीब सा मंजर नज़र आता हैं … 
हर एक आँसूं समंदर नज़र आता हैं 
कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना .. 
हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता हैं

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -