जासूसी करता था, दिखाया भारत से बाहर का रास्ता

नई दिल्ली : पाकिस्तान के लिये जासूसी करने वाले पाकिस्तानी उच्चायुक्त के एक कर्मचारी को भारत से बाहर का रास्ता दिखाया गया है। भारत सरकार ने कर्मचारी को यह कहा है कि वह तत्काल भारत छोड़ दें। बताया गया है कि पाकिस्तानी उच्चायुक्त में काम करने वाला कर्मचारी महमूद अख्तर पर जासूसी करने ओर गोपनीय रक्षा दस्तावेज चुराने का आरोप है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि कर्मचारी अख्तर को गोपनीय दस्तावेज चुराते हुये रंगे हाथो पकड़ा गया है। इसके बाद भारत सरकार ने उसे देश छोड़ने का आदेश दिया। इस मामले में विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तानी उच्चायुक्त अब्दुल बासित को भी तलब करते हुये अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी।

बताया गया है कि पुलिस ने पूछताछ कर महमूद को छोड़ दिया है। इसके अलावा पुलिस ने बीते दिनों ही दिल्ली से दो राजस्थानी लोगों को भी जासूसी के मामले में गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार अख्तर के पास से गोपनीय रक्षा दस्तवेज बरामद कर लिये गये है।

राजधानी के डिप्लोमेटिक एन्क्लेव चाणक्यपुरी स्थित पुलिस थाने में उससे पूछताछ की गई, लेकिन राजनयिक छूट हासिल होने की वजह से बाद में उसे छोड़ दिया गया। पुलिस ने साथ ही बताया कि अख्तर के पास बीएसएफ की तैनाती और रक्षा तैनाती नक्शों से जुड़े दस्तावेज थे। उसने फर्जी आधार कार्ड भी बनवा रखा था।

150 से अधिक कबूतर जासूसी करने वाले थे, अब हो रही जांच

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -