Share:
महाशिवरात्रि पर्व से 3 दिन पहले टुटा ओंकारेश्वर के झूला पुल का तार
महाशिवरात्रि पर्व से 3 दिन पहले टुटा ओंकारेश्वर के झूला पुल का तार

खरगोन। तीर्थनगरी ओंकारेश्वर में माँ नर्मदा पर बने झूला पुल का एक तार टूट गया है। तार टूट कर नदी में गिरा तो हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे प्रशासनिक और एनएचडीसी के अफसरों ने झूला पुल पर आवागमन प्रतिबंधित कर दिया गया है। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए झूला पुल के दोनों गेट बंद कर दिए हैं। SDM ने बताया की, झूला पुल एनएचडीसी के हवाले हैं, उनके इंजीनियर द्वारा मौका मुआयना कर लिया गया है। इंजीनियर ने यह आश्वासन दिया है की महाशिवरात्रि तक झूला पुल ठीक हो जाएगा।

ज्ञात होगा की ओंकारेश्वर ज्योतिर्लिंग, बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है। इसलिए महाशिवरात्रि के पवन पर्व पर यहां लाखों श्रद्धालु जुटते हैं। इस पर्व से ठीक पहले ही तीर्थ नगरी के झूला पुल का तार टूट जाने से बवाल मच गया। एसडीएम, पुलिस समेत अफसर मौके पर पहुंचे और पुल के दोनों गेट बंद कराए। एंट्री गेट से किसी कारण वश तार का करीब आधा हिस्सा टूटकर गिरा है। फिलहाल कोई बड़ा मुद्दा नहीं है, एफओबी पुल से आना जाना जारी है।

ओंकारेश्वर में श्रद्धालुओं की आवाजाही के लिए नया झूला पुल 18 साल पहले बनाया गया था। कुछ समय पहले गुजरात के मोरवी में झूला पुल गिरने पर ओंकारेश्वर के झूला पुल की भी जांच की गई थी। तब इसे पूरी तरह सुरक्षित बताया गया था। महाशिवरात्रि 18 तारीख को है। दूसरे दिन रविवार और सोमवार को सोमवती अमावस्या भी आ रही है। इस प्रकार तीन दिन में दो लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने की संभावना है।

एनएचडीसी के महाप्रबंधक प्रसन्न कुमार दीक्षित द्वारा बताया गया कि समय-समय पर प्रशासन को झूला पुल की भार क्षमता के अनुसार ही भीड़ के समय प्रवेश का पत्र लिखा गया है, पर्वों के दौरान अत्यधिक भीड़ का दबाव झूला पुल पर हो जाता है। प्रशासन को सूचित कर भार क्षमता के अनुकूल ही भीड़ को झूला पुल से निकलने की अनुमति दी जाना उचित होगा।

तीर्थनगरी में दो ही पुल है। एक से श्रद्धालु मंदिर जाते हैं और दूसरे से वापस आते है। बता दें कि पैदल पुल से श्रद्धालुगण ज्योर्तिलिंग दर्शन के लिए जाते हैं। नर्मदा में स्नान के बाद दर्शन करके झूला पुल से होकर बाहर निकलते हैं। नर्मदा परिक्रमा वासी भी ओंकार पर्वत का भ्रमण करके इसी पुल से बाहर आते हैं। महाशिवरात्रि और अमावस्या पर भीड़ बढ़ने से समस्या हो सकती है।

इस्लामनगर का नाम बदलकर जगदीशपुर करते ही अब CM शिवराज ने किया ये बड़ा ऐलान

MP में फिर लौटी ठंड, जानिए अपने शहर का हाल

महाशिवरात्रि पर जगमगाएगा 'महाकालेश्वर का धाम', टूटेगा अयोध्या का रिकॉर्ड

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -