OMG! साल के अंत तक UPI ने भारत में बनाया नया रिकॉर्ड, पूरे साल में हुआ इतने करोड़ का ट्रांजेक्शन

इंडिया (India) में लोग अब डिजिटल पेमेंट (Digital Payment) को अधिक तवज्जो दिया जा रहा है. यही कारण है कि जिसका ग्राफ देश में निरंतर ऊपर जा रहा है. इसका कारण से इंडिया में यूपीआई (UPI) के माध्यम से पेमेंट करने का आंकड़ा भी हर माह नई ऊंचाई छूता चले जा रहा है. दिसंबर 2021 में यूपीआई ट्रांजेक्शन (UPI Transaction) ने अपने पुराने सारे रिकॉर्ड तोड़ चुके है. दिसंबर में यूपीआई (UPI) के 456 करोड़ ट्रांजेक्शन भी देखने को मिले है. इन ट्रांजेक्शन की कुल वैल्यू 8.27 लाख करोड़ रुपये हो चुकी है, जो अब तक सबसे अधिक है. जिसके पूर्व अक्टूबर 2021 में फेस्टिव सीजन के दौरान UPI के 421 करोड़ ट्रांजेक्शन किए गए थे. तो चलिए विस्तार से समझते हैं पूरा आंकड़ा.

दिसंबर 2020 की तुलना में काफी उछाल: नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) की तरफ से दिसंबर 2021 में हुए यूपीआई ट्रांजेक्शन (UPI Transaction) को लेकर जारी इन आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो यह दिसंबर 2020 में हुए ट्रांजेक्शन से 9 फीसद से ज्यादा है. इन ट्रांजेक्शन की वैल्यू  के बारें में बात की जाए तो यह दिसंबर 2020 की तुलना में 7.6 पर्सेंट अधिक है.

पूरे साल हुए इतने ट्रांजेक्शन: एनपीसीआई (NPCI) के आंकड़े कहते हैं कि 2021 में कुल 3800 करोड़ UPI ट्रांजेक्शन कर लिए गए है, इनकी कुल वैल्यू तकरीबन 73 लाख करोड़ रुपये कही जाती है. एनपीसीआई का दावा है कि अगर कम वैल्यू वाले ऑफलाइन ट्रांजेक्शन को मंजूरी मिलती है तो रोजाना 100 करोड़ तक UPI ट्रांजेक्शन हो सकता है.

पिछले 4 साल में 70 गुना की बढ़ोतरी: खबरों की माने तो यूपीआई ट्रांजेक्शन का ग्राफ बीते 4 वर्ष में बहुत बढ़ा है. इन 4 साल में यूपीआई ट्रांजेक्शन में 70 गुना की बढ़ोतरी हुई है, जबकि इस टाइम पीरियड में डेबिट कार्ड (Debit Card) से होने वाले ट्रांजेक्शन कम हो चुके है. UPI ट्रांजेक्शन कार्ड ट्रांजेक्शन की तुलना में 8 गुना ज्यादा हैं. 

लॉन्चिंग से पहले लीक हुई OnePlus के इस स्मार्टफोन की जानकारी

क्या आप भी जीतना चाहते है 5 हजार का इनाम तो बस देना होगा इन सवालों का जवाब

WhatsApp ने बंद किए लाखों अकाउंट, जानिए क्या है वजह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -