ओला कैब के चालक ने कायम की अनूठी मिसाल, मोदी ने भी किया रिट्वीट

ब्लैक मनी और भ्रष्टाचार को लेकर 1000, 500 की नोटें बंद करने के मोदी के ऐलान के बाद जहां हर कोई परेशान हो रहा है वहीँ कई लोग इस फैसले से खुश भी हैं. लेकिन कई लोग इसका विरोध भी कर रहे हैं ऐसे में एक ओला कैब के चालाक द्वारा इस परेशानी भरी समस्या में मिसाल कायम की. यह घटना सोशल मीडिया पर आग की तरह फ़ैल गयी और हज़ारों लोगों ने ड्राइवर के सम्मान में इस पोस्ट पर कमेंट भी किये.

यह घटना बिलकुल सच्ची है जिसे विप्लव अरोरा नाम के एक शख्स ने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट की. पोस्ट करते ही यह घटना आग की तरह सोशल मीडिया पर फ़ैल गयी और वायरल हो गयी और सबसे बड़ी बात यह है की मोदी ने खुद उस पर रिट्वीट किया.

कैब ड्राइवर ने पेश की मिसाल

फेसबुक पर विप्लव अरोरा नाम के एक शख्स ने पोस्ट किया कि 'आज मैंने रेलवे स्टेशन जाने के लिए एक ओला कैब बुक किया। दुर्भाग्य से मेरे वालेट पर 500 के ही नोट थे, इसके बावजूद भी कि मुझे 500 और 1000 की नोटें न चलने के बारे में जानकारी थी। मैंने सोचा कि ओला मनी से ऑनलाइन ही पेमेंट कर दूंगा, लेकिन जो बिल था वो ओला मनी में मौजूद रकम से कुछ ज्यादा था। मैंने ड्राइवर को बाकी पैसे कैश देने का मन बनाया लेकिन कोई भी एटीएम चालू नहीं मिला। यह भी तय था कि ऐसे मौके पर कोई भी आपको 500 रुपए का खुला नहीं देगा।"

लेकिन इस परेशानी भरे माहौल में इस समस्या के हल के तौर पर कैब चालाक ने जो जवाब दिया वह सुनकर न सिर्फ उसके प्रति में मेरे में मन में आदर का भाव पैदा हुआ बल्कि मैं यह पोस्ट लिखने के लिए प्रेरित हुआ।

विप्लव ने लिखा कि ड्राइवर ने मुझसे कहा, 'सर बाकी के पैसे रहने दीजिए, दो पैसे कम कमा लेंगे, थोड़ी सी तकलीफ होगी वो तो सब को हो रही है। अब सरकार के फैसले का सम्मान करते हुए देश की तरक्की में यह हमारा योगदान ही समझ लेंगे। आप बेफिक्र होकर अपनी ट्रेन लीजिए।

ड्राइवर विपिन कुमार को अपनी पोस्ट के आखिर में विप्लव ने हैश टैग किया और लिखा मैं ड्राइवर विपिन को दिल से सलाम करता हूं। उस ड्राइवर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उस बात को सही साबित कर दिया जिसमें उन्‍होंने कहा था कि देश का आम आदमी हमेशा उस को स्वीकार करने को तैयार रहता है तो देश हित में हो।

यह पोस्ट करते ही लाखों लोगों ने चालाक के प्रति सम्मान दिखाया और बहुत अधिक संख्या में कमेंट किये. विप्लव के द्वारा की गयी यह पोस्ट किसी के माध्यम से जब केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल तक पहुंची तो उन्होंने इसे ट्वीट किया और फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे रिट्वीट किया।

ग्रामीणों से ठगी, 300 में चलाया 500 का नोट

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -