ऑक्यूपेशनल थैरेपी दे सकती हैं साइंस स्ट्रीम के छात्रों को नई दिशा

Sep 22 2015 11:48 AM
ऑक्यूपेशनल थैरेपी दे सकती हैं साइंस स्ट्रीम के छात्रों को नई दिशा

ऐसे उम्मीदवार जो की मेडिकल क्षेत्र में इंट्रेस्टेड होते हैं और जो की इसी फील्ड में कुछ अलग करना चाहते हैं.उनके लिए ऑक्यूपेशनल थैरेपी एक अच्छा करियर ऑप्शन साबित हो सकता हैं.

क्या हैं ऑक्यूपेशनल थैरेपी:- इस थेरेपी द्वारा ऐसे व्यक्ति जो की मानसिक और शारीरिक रूप से सक्षम नही हैं उनकी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में मदद करना इन थेरेपी के अंतर्गत आता हैं..इन थेरेपी की ज़रूरत अधिकतर ऑटिज्म या इमोशनल डिसऑर्डर से ग्रसित बच्चों और न्यूरोलॉजिकल या साइकेट्रिक डिसऑर्डर के शिकार युवाओ को होती हैं. ऑक्यूपेशनल थैरेपी से संबंधित

कोर्सेज: ऐसे छात्र जो इस कोर्स को करना चाहते हैं उनके लिए 12 वीं साइंस स्ट्रीम से पास होना ज़रूरी हैं.इसके अलावा इन फील्ड में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स भी होते हैं.जिनमे एंट्रेंस एग्जाम द्वारा एडमिशन लिया जा सकता हैं.

नौकरी के अवसर :- ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट के लिए सरकारी और प्राइवेट दोनों ही क्षेत्र में नौकरी के अवसर उपलब्ध हैं.ऑक्यूपेशनल थैरेपिस्ट के लिए अस्पतालों ,मेंटल हेल्थ केयर सेंटर, रिहेबिलेशन सेंटर, एडल्ट डे केयर में जॉब के अवसर होते हैं.इसके अलावा थेरेपिस्ट या कंसल्टेंट के रूप में आप अपना क्लीनिक भी खोल सकते हैं.

संस्थान:- 1) राष्ट्रीय पुनर्वास प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान, कटक

2) इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ एंड एजुकेशन रिसर्च,

3) पटना इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली

4) क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लोर

5) दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ रूरल डेवलपमेंट, दिल्ली