वेधशाला ने कहा कि हवाई हमले में सीरिया में मारे गए ईरान के 19 लड़ाकू विमान

सीरिया हमेशा से बहुत संवेदनशील जगह रही है। सीरिया फिर से हवाई हमले के साथ सुर्खियों में है। हवाई हमले इजरायल द्वारा किए जाने की संभावना है। हाल के हवाई हमलों ने लगभग 9 समर्थक ईरान मिलिशिया लड़ाकों को मार दिया। ये हमले 26 नवंबर को युद्धग्रस्त पूर्वी सीरिया में किए गए थे, जैसा कि सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा था। 

जंहा इस बता का पता चला है कि इस हादसे की सूचना सुबह सुबह मिली। स्ट्राइक ने डीयर एज़ोर क्षेत्र में अल्बू कमल के शहर के बाहर ईरान समर्थित मिलिशिया के ठिकानों पर हमला किया। वेधशाला का कहना है कि दर्ज की गई हत्या में 19 विदेशी लड़ाके थे। 

मिली जानकारी के अनुसार इज़राइल शायद ही कभी व्यक्तिगत हमलों को पहचानता है, लेकिन वेधशाला ने इसे समर्थक इर के खिलाफ दो हवाई हमलों को शुरू करने के लिए दोषी ठहराया है। 

सूडान के पूर्व प्रधानमंत्री सादिक अल-महदी का निधन, कोरोना से गई जान

अगर बिडेन की जीत की पुष्टि हो जाती है तो मैं पद छोड़ दूंगा: डोनाल्ड ट्रम्प

पाकिस्तान की फिर हुई अंतर्राष्ट्रीय बेइज्जती, भारत को घेरने की कोशिश नाकाम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -