हुर्रियत पर NIA का शिकंजा, मीरवाइज़ और गिलानी के बेटे को भेजा समन

श्रीनगर: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक और पाकिस्तान समर्थक अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के बेटे को दिल्ली में आतंकी-वित्तपोषण मामले में पूछताछ के लिए तलब किया है। मीरवाइज और नसीम गिलानी को सोमवार को नई दिल्ली में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के मुख्यालय में पेश होने के लिए कहा गया है।

अपने बेटे की तस्वीर शेयर कर अनीता भाभी ने दी महिलाओं को महिला दिवस की बधाई

एनआईए ने 26 फरवरी को जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी और अलगाववादी समूहों के वित्तपोषण से संबंधित मामले के संबंध में मीरवाइज सहित अलगाववादी नेताओं के परिसरों में तलाशी ली थी। एनआईए की टीम ने पुलिस और सीआरपीएफ के जवानों के साथ, कुछ अलगाववादी नेताओं के आवासों की तलाशी ली, जिनमें तहरीक-ए-हुर्रियत के अध्यक्ष मीरवाइज, नसीम गिलानी और अशरफ सेहराई का नाम शामिल हैं।

सप्ताह के आखिरी दिन थमी गिरावट सोने की कीमतों में आई तेजी

इससे पहले जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (JKLF) के नेता यासीन मलिक, शब्बीर शाह, ज़फर भट और मसरत आलम के घरों पर भी छापा मारा गया था। मीरवाइज और सेहराई को छोड़कर, अन्य सभी नेता कुछ समय के लिए जेल गए।  एनआईए ने पिछले साल मीरवाइज के दो मामा - मौलवी मंज़ूर और मौलवी शफ़ात - और उनके करीबी सहयोगियों से पूछताछ की थी। मंज़ूर और शफ़ात दोनों सेवानिवृत्त वरिष्ठ सरकारी अधिकारी हैं। एनआईए को जांच में आतंकवादी गतिविधियों के वित्तपोषण, सुरक्षा बलों पर पथराव, स्कूलों को जलाने और सरकारी प्रतिष्ठानों को नुकसान पहुंचाने के पीछे होने वाले आरोपियों की पहचान करना है।

खबरें और भी:-

महिला दिवस के मौके पर पंजाब सरकार ने दिया यह ख़ास तोहफा

महिला दिवस पर महिलाओं को खुद की तरह हवा में उड़ने के लिए कह रही है यह एक्ट्रेस

2018-19 में रिकॉर्ड तोड़ेगा देश का वस्तु निर्यात स्तर

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -