एकाग्रता बढ़ाने के लिए ऐसे करें नटराजासन, जानें अन्य लाभ

एकाग्रता बढ़ाने के लिए ऐसे करें नटराजासन, जानें अन्य लाभ

योग करने के वैसे तो कई लाभ होते हैं. हर तरह का योग आपको स्वस्थ रखता है. ऐसे ही नटराजासन भी आपकी सेहत के लिए  बेहद लाभकारी है. इसलिए योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें. दिनभर में 20-30 मिनट के लिए योग का अभ्यास करने से आप दिनभर उर्जावान रहते हैं, वजन नियंत्रित रहता है, शरीर स्वस्थ रहता है और दिमाग तरोताजा रहता है. इस आसान के बारे में बता दें,  नटराजासन एक लाभकारी योगासन है जिसका नाम हिंदु देवता शिव के नाम पर पड़ा है. तो चलिए जानते हैं इसे कैसे करते हैं और इसे करने से क्या लाभ हो सकते हैं. 

नटराजासन कैसे करें

नटराज आसन करने के लिए योगा मैट पर सीधे खड़े हो जाएं और अपने हाथों को साइड में सीधा रखें.

अब सांस लेते हुए सीधे पैर को शरीर के पीछे की तरफ मोड़ें और सीधे हाथ से पैर को टखने से पकड़ें.

अब सीधे पैर को जितना हो सके ऊपर की ओर उठाएं. इस दौरान इसे हाथ से पकड़े रहें.

अपने उल्टे हाथ को अपने सामने सीधा फैलाएं. शुरुआत में आप किसी और व्यक्ति की मदद ले सकते हैं.

अभ्यास करते वक्त गहरी सांस लेते रहें और संतुलन बनाने की कोशिश करें.

इस स्थिति में 20-30 सेकेंड के लिये रुकें.

अब धीरे-धीरे सामान्य आसन में आ जाएं.

इसी आसन को दूसरे पैर के साथ दोहराएं. इसी तरह 3-4 बार इस आसन का अभ्यास करें.

नटराजासन करने के लाभ

नटराज आसन का अभ्यास करने से आपको वजन कम करने में मदद मिलती है.

यह आपके शरीर की मुद्रा में सुधार करता है और शरीर के संतुलन को बढ़ाता है.

नटराजासन करने से थाई, हिप्स, टखनों और सीने की मसल्स को स्ट्रेच करने में मदद मिलती है.

यह आपकी एकाग्रता बढ़ाने के लिए भी लाभकारी योगासन है.

तनाव को कम करने और दिमाग को शांत करने के लिए आपको नटराज आसन का अभ्यास करना चाहिए.

इस योगासन के अभ्यास से एब्डोमिनल ऑर्गन के फंक्शन को सुधारने में मदद मिलती है जिससे आपका पाचन बेहतर होता है.

यह हैमस्ट्रिंग, स्पाइन, कंधों के लचीलेपन को बढ़ाता है.

हड्डियों के लिए लाभकारी है स्किम मिल्क, जानें फायदे

अस्थमा की परेशानी में अपनाएं घरेलु तरीके, नहीं होगी इनहेलर की जरूरत

ऑफिस से छुट्टियां नहीं लेने पर हो सकती है ये बीमारी