नैसकॉम ने सरकार से इस बात का किया निवेदन

भारत में कोरोना वायरस का कहर जारी है. वही, उद्योग मंडल Nasscom ने सरकार से लॉकडाउन खत्म होने के बाद कर भुगतान और रिटर्न फाइलिंग से जुड़े सभी डेडलाइन को चार सप्ताह के लिए निलंबित करने का आग्रह किया है. उद्योग संगठन का कहना है कि इससे स्टार्टअप कंपनियों एवं छोटे एवं मझोले उद्योगों को राहत मिलेगी. COVID-19 संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए सरकार ने 26 मार्च से 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया है. Nasscom ने बयान जारी कर कहा है, ''COVID-19 से स्टार्टअप कंपनियों पर बहुत अधिक दबाव बना है और उनके बिजनेस जारी रखने को लेकर आशंकाएं पैदा हो गई हैं. वे सहायता और राहत के लिए सरकार की ओर देख रहे हैं.

Gold Rate Today: सोने की कीमत में भारी गिरावट, इस भाव पर हुआ बंद

इस मामले को लेकर Nasscom ने कहा है कि स्टार्टअप कंपनियों को इन परिस्थितियों में समय का काफी नुकसान हुआ है और उनकी परियोजनाएं विलंबित हुई हैं. इससे उनके ऊपर वित्तीय दबाव बना है. उद्योग संगठन ने सरकार से स्टार्टअप द्वारा इस्तेमाल में लाए जाने वाले कार्यस्थल के लिए किराये पर सब्सिडी देने का आग्रह किया है.  

क्या गिरे हुए टैक्स कलेक्शन से हो पाएगा कोरोना वायरस का मुकाबला ?

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि Nasscom ने इसके साथ ही सभी शहरों से लॉकडाउन हटाए जाने के बाद टैक्स के भुगतान और टैक्स रिटर्न भरने से जुड़ी सभी तरह की समयसीमा को कम-से-कम चार सप्ताह के लिए सस्पेंड करने का आग्रह किया है. वही, नैसकॉम ने इसके साथ ही कहा है कि लॉकडाउन की अवधि के दौरान प्रोविडेंट फंड और ग्रेच्युटी के भुगतान को भी टालने का सुझाव दिया. संगठन ने इसके अलावा ब्याज के भुगतान से जुड़ी समयसीमा को आगे बढ़ाए जाने और कर्ज के ब्याज के भुगतान में ढील देने का आग्रह भी किया है.  

कोरोना से जंग के लिए आगे आई सन फार्मा कंपनी, दान करेगी 25 करोड़ की दवाएं व सैनिटाइजर

लॉकडाउन के दौरान व्यापारी पर गोली चलने वाला पुलिसकर्मी गिरफ्तार, भेजा गया जेल

भारत: इस कंपनी ने 1 करोड़ डेटॉल साबुन का वितरण करने का किया फैसला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -