इस स्कूल में पढ़ती है केवल एक छात्र, पढ़ाने आते हैं दो टीचर

दुनिया में कुछ लोग ऐसे होेते हैं जिनकी कम उम्र में ही पढ़ने की बहुत ललक होती है। उन्हें दूसरों से कोई फर्क नहीं पड़ता। वह अपने ही काम में मस्त रहते हैं। आज एक ऐसा ही बच्ची की कहानी आपको बताने जा रहे हैं जिसका पढ़ाई के प्रति उत्साह देखकर आप भी सोच में पढ़ जाएंगे। जिस लड़की के बारे में बताने जा रहे हैं उसकी उम्र मात्र 6 साल है। 

इस साबुन की कीमत जानकर होश उड़ जाएंगे आपके

येरेमाननुगानाहल्ली गांव की कहानी है। इस गांव में एक उर्दू स्कूल है जहां पर दो टीचर ही है और एक बच्ची। जिस बच्ची की बात करने जा रहे हैं उसका नाम नाईमा खान है। पिछले 3 वर्ष से नाईमा अपने उर्दू मीडियम स्कूल में अकेली ही पढ़ाई कर रही हैं। वह रोज 9:30 पर स्कूल आ जाती है और 6 घंटे यहीं पर पढ़ाई करती हैं। आपको बता दें नाईमा एक मजदूर की बेटी है। भले ही एक बच्ची हो लेकिन उसकी दो क्लास रोज लगती है। एक उर्दू की और एक कन्नड़ की।  

तूफान में फंस गए है तो खुद को इस तरह बचाएं

गौरतलब है एक वक्त इस गांव में बहुत बच्चे थे। लेकिन धीरे-धीरे यहां से लोग पलायन करने लगे। आपको बता देें इस स्कूल के प्राचार्य ने कहा था एक ही बच्ची है तो क्या स्कूल है तो चलेगा। उर्दू मीडियम स्कूल खासकर मुस्लिम बच्चोें के लिए ही खोला गया था लेकिन अब यहां सिर्फ एक ही बच्ची रह गई हैै। 

यह भी पढ़ें

कोर्ट के चक्कर नहीं काटना चाहते हैं तो इस होटल में लीजिए तलाक

मध्य प्रदेश का मैग्नेट मैन कहते हैं इस शख्स को

बॉयफ्रेंड ने मोटी कहकर किया ब्रेकअप,गर्लफ्रेंड ने फिर किया कुछ ऐसा हाल..

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -