+

मुंबई ने 41वीं बार बना रणजी ट्रॉफी का चैंपियन, सौराष्ट्र को दी मात

मुंबई ने 41वीं बार बना रणजी ट्रॉफी का चैंपियन, सौराष्ट्र को दी मात

मुंबई : मुंबई क्रिकेट टीम ने रणजी ट्रॉफी के फाइनल में सौराष्ट्र को हारकर 41वीं बार खिताब अपने नाम किया. मुंबई ने महाराष्ट्र क्रिकेट संघ स्टेडियम में खेले गए फाइनल मैच में शुक्रवार को तीसरे दिन ही सौराष्ट्र को पारी और 21 रनों से हराकर खिताब पर कब्जा जमाया.इस जीत में मुंबई के गेंदबाजों ने अहम भूमिका निभाई.मुंबई की तरफ से सर्वाधिक 5 विकेट शार्दुल ठाकुर ने लिए. वहीँ मुंबई की पहली पारी में शतक लगाने वाले श्रेयस अय्यर को मैन ऑफ द मैच चुना गया. 

इससे पहले मुंबई ने सौराष्ट्र पर पहली पारी के आधार पर 135 रनों की बढ़त बना ली थी. इसके बाद मुंबई के गेंदबाजों ने सौराष्ट्र के बल्लेबाजों को टिकने नहीं दिया और पूरी टीम को 115 रनों पर ढेर कर पारी और 21 रनों से जीत दर्ज की.

अपने दूसरे दिन के स्कोर 8 विकेट पर 262 रनों से आगे खेलने उतरी मुंबई की टीम से तीसरे दिन सिद्देश लाड (88) ने बलिंदर संधू (नाबाद 34) के साथ दसवें विकेट के लिए 103 रनों की साझेदारी कर टीम को 135 रनों की बढ़त दिलाई. लाड़ टीम की तरफ से आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज थे. इसी के साथ टीम 371 रनों पर आउट हुई. 

अपनी दूसरी पारी खेलने उतरी सौराष्ट्र के बल्लेबाज मुंबई के गेंदबाजों का सामना नहीं नहीं कर सके. 13 रन पर ही संधू ने अवि बारोट (4) को पेवलियन भेजा. इसके बाद विकेट गिरने का सिन्सिला लगातार जारी रहा और सौराष्ट्र की टीम 48.2 ओवर में 115 रन पर ढेर हो गई.सौराष्ट्र की तरफ से सबसे ज्यादा 27 रन चेतेश्वर पुजारा ने बनाए. उनके अलावा कप्तान जयदेव शाह 17 रनों का योगदान दे सके. मुंबई की तरफ से ठाकुर के अलावा धवल कुलकर्णी और संधू ने 2-2 विकेट लिए. अभिषेक नायर को 1 विकेट मिला.