मुंबई: छात्रों के विरोध प्रदर्शन से रेल सेवाएं ठप

मुंबई: मुंबई जैसे घनी आबादी वाले शहर में लाखों लोग अपने आवागमन के लिए लोकल ट्रेन पर निर्भर हैं, वैसे भी मुंबई की परिवहन व्यवस्था को देखते हुए लोकल ट्रेन ही एकमात्र सुविधाजनक साधन है. किन्तु आज मुंबई की लोकल ट्रेनें अपने स्थान से हिल भी नहीं पा रहीं, जिसके कारण उन लाखों लोगों की दिनचर्या प्रभावित हो रही है, जो स्कूल, कॉलेज से लेकर कार्यालय जाने तक इन ट्रेनों का सहारा लेते हैं.

आज सुबह से ही मुंबई में आंदोलनकारी छात्रों की एक बड़ी भीड़ ने  रेलवे स्टेशन पर चक्का जाम कर दिया है, जिसके चलते कई लोकल ट्रेनें गंतव्य स्थान के लिए नहीं निकल पाई हैं. बताया जा रहा है कि सिर्फ कुर्ला से CST जाने वाली 30 ट्रेनों को रद्द किया गया है. छात्रों के चक्का जाम से वेस्टर्न और सेंट्रल रेलवे लाइन पूरी तरह ठप हो चुकी है. दादर से माटुंगा रेलवे स्टेशनों के बीच हज़ारों की संख्या में छात्र रेल पटरी पर बैठ गए हैं और "हमे नौकरी दो या मौत दो" के नारे लगा रहे हैं. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने भी छात्रों के समर्थन में उतरते हुए कहा है कि रेलमंत्री, छात्रों को नौकरी के लिए लिखित आश्वासन दें. 

 

आंदोलनकारी छात्रों ने रेलवे पर नौकरी न देने का आरोप लगते हुए कहा है कि करीब 4 साल पहले ही उनमे से काफी लोगों का रेलवे में सिलेक्शन हो चुका था, वे ट्रेनिंग भी कर चुके थे, लेकिन उन्हें अभी तक रेलवे द्वारा नियुक्ति पत्र नहीं दिया गया. छात्रों ने आरोप लगाया कि नौकरी न मिल पाने के कारण 10 से अधिक छात्र आत्महत्या कर चुके हैं. वहीं पुलिस ने छात्रों की भीड़ को हटाने के लिए लाठीचार्ज का भी इस्तेमाल किया, जिसमे कई छात्र घायल हो गए, पुलिस के आते ही छात्र भाग जाते हैं और कुछ देर बाद फिर से आ जाते हैं, यह सिलसिला आज सुबह से चल रहा है.

दाऊद के करीबी टकला को कोर्ट ने 28 मार्च तक पुलिस हिरासत में भेजा

डिप्टी चीफ इंजीनियर के पद पर नौकरी पाने का सुनहरा अवसर

कॉल रिकॉर्डिंग मामले में गिरफ्तार हुआ नवाज़ का वकील

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -