मध्यप्रदेश में सरकार 76 छुट्टियां खत्म करने की तैयारी में

भोपाल। सूत्रों के मुताबिक वित्त मंत्री जयंत मलैया ने कर्मचारियों को दोहराया कि 7वें वेतनमान में आपका वेतन 10 से 20 फीसदी बढ़ सकता है। तथा ऐसे समय में कम से कम छुट्टी लेने पर कर्मचारियों को खुद ही इस पर गंभीर होकर विचार विमर्श करना चाहिए। जयंत मलैया ने कहा कि समाज विशेष के त्योहार पर सभी को छुट्टी क्यों मिलना चाहिए? जरूरी हो तो इन अवकाशों को ऐच्छिक किया जा सकता है। उल्लेखनीय है कि वर्तमान कर्मचारियों को 52 रविवार, 24 शनिवार, 3 ऐच्छिक अवकाश और 84 अन्य पर्व एवं त्योहारों की छुट्टियां मिलती हैं। गौरतलब है की राज्य सरकार काम के घंटे और छुट्टी के दिन बढ़ाने पर सहमति बनने के बाद समाज विशेष की छुट्टियां कम करने पर गंभीरता से विचार कर रही है। व अगर यह संभव हो जाता है तो समाज विशेष के लोगो को पोंगल, मोहर्रम, शब-ए-बारात, महावीर जयंती, रविदास जयंती, गुड फ्राइडे, वाल्मीकि जयंती सहित करीब 76 छुट्यिां कर्मचारियों को नहीं मिलेंगी। जयंत मलैया ने पूर्व में राज्य के कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधियों की मंत्रालय में बैठक आयोजित की थी. 

व इस बैठक में यह अंतिम सहमति बन गई थी की पांच दिन का हफ्ता होगा व वित्त मंत्री जयंत मलैया ने इस वार्ता के दौरान छुट्टियों को कम करने का इशारा भी किया था. सरकार की मंशा थी की पांच दिन का हफ्ता करके कर्मचारियों से रोजाना दो घंटे ज्यादा काम कराया जाए लेकिन कर्मचारी काम का सिर्फ आधा घंटा बढ़ाने पर राजी हुए हैं, तथा दूसरे रास्ते के तहत सरकार की मंशा है की समाज विशेष की 76 छुट्टियां कम होने से कर्मचारियों को सालभर में 532 घंटे ज्यादा काम करना पड़ेगा. जयंत मलैया ने कहा की अभी इस लागु करने में समय लगेगा. सर्वप्रथम वे छुट्टियां चिन्हित की जाएंगी, जिन्हें खत्म किया जाना है। जैसी छुट्टियां भारत सरकार में हैं, वैसी ही रखने की कोशिश करेंगे। तथा कर्मचारी अवकाश में कटौती नहीं करना चाहते हैं. 
 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -