16 करोड़ से भी ज्यादा लोगों ने बदली मोबाइल कंपनी

By Hitesh Songara
Sep 05 2015 12:50 PM
16 करोड़ से भी ज्यादा लोगों ने बदली मोबाइल कंपनी

नई दिल्ली : देश में लगातार मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (MNP) के आंकड़े बढ़ते ही जा रहे है. इन आंकड़ों से यह बात भी साफ़ हो रही है कि देश में कॉल ड्राप, ख़राब सर्विसेज को लेकर कई लोग एक मोबाइल कम्पनी को छोड़कर दूसरी मोबाइल कम्पनी में जाना चाह रहे है. MNP की रिपोर्ट से इस बात का खुलासा हुआ है कि हर महीने करीब 36 लाख लोगों के द्वारा अपनी मोबाइल कम्पनी को बदला जा रहा है.

ताजा सूत्रों से यह बात भी सामने आई है कि देश में अब तक कुल 16 करोड़ से भी ज्यादा लोग मोबाइल कम्पनी बदल चुके है और यह सिलसिला लगातार चलता ही जा रहा है. दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने हाल ही में इस बारे में बताया है कि जून महीने के दौरान 36.78 लाख लोगों ने मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए आवेदन किया है जबकि मई माह के दौरान यह संख्या 32.40 लाख देखी गई थी.

ट्राई ने यह भी कहा है कि इस तरह से आवेदकों की संख्या का बढ़ना मोबाइल कम्पनियों के लिए भी एक गंभीर मुद्दे के रूप में सामने आ रहा है. गौरतलब है कि जुलाई माह से मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी को पूरे देश में विस्तारित किया जा चूका है. ट्राई ने यह भी बताया है कि MNP की मुख्य वजह कॉल ड्राप, नेटवर्क, बिल, ख़राब सर्विस आदि है जोकि उपभोक्ता को मोबाइल कंपनी बदलने पर मजबूर कर रही है.