मिले नोटिस, ज्यादा कैश जमा करने वालों से पूछा: कहा से आया पैसा

नई दिल्ली : केन्द्र की मोदी सरकार ने कालाधन कुबेर और भ्रष्टाचारियों पर पूरी तरह से नकेल कसना शुरू कर दी है। नोटबंदी के बाद से ही वे लोग मोदी सरकार पर निशाने पर आ गये है जो बेईमान बनकर देश को लूटने में लगे हुये थे। मोदी सरकार न केवल जमीन के सौदागरों पर नजर रख रही है वहीं अब आयकर विभाग के अधिकारी बैंक में ज्यादा रूपये जमा कराने वाले लोगों से यह पूछेंगे कि आखिर वे इतने रूपये कहां से लाये।

ऐसे लोगों को आयकर विभाग ने नोटिस भेजना भी शुरू कर दिया है। वैसे सरकार ने हाल फिलहाल एक दिन में पचास हजार और अधिकतम ढाई लाख रूपये जमा करने की सीमा तय कर रखी है, यदि इसके बाद किसी ने भी इससे ज्यादा रकम बैंकों में जमा कराई तो फिर उसकी खैर नहीं। बताया गया है कि आयकर विभाग ने अभी सिलगुड़ी तथा गंगटोक में नोटिस भेजकर तय रकम से अधिक रूपया जमा कराने के लिये जवाब पेश करने के लिये कहा है। नोटिस मिलने के बाद ज्यादा रूपया जमा करने के मामले में जवाब तो देना ही पड़ेगा वहीं यह बताना आवश्यक होगा कि आय के स्त्रोत कौन-कौन से है।

अधिकारियों को दिये अधिकार

कालाधन कुबेरों को घेरने के लिये आयकर विभाग अधिकारियों के पास अधिकार दे दिये गये है। इसके तहत अधिकारी किसी की भी टैक्स पेयर की फाइल को न केवल स्क्रूटनी में ले सकेंगे वहीं आय के स्त्रोत व खर्च का भी हिसाब मांगने से उन्हें कोई नहीं रोक सकता।

वायरल हुआ 2000 रूपए का नोट तो आनन-फानन में बंद किए नोट

मोदी के मंत्री ने बताया काले धन को सफ़ेद करने का मंत्र

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -