कुछ मंत्री और विधायक नहीं करना चाहते जनता को नाराज

हिमाचल के कुछ मंत्री और विधायक अपने हलके की जनता को नाराज नहीं करना चाहते हैं। इसके साथ ही सड़क-पुलों, पेयजल और सिंचाई जल की योजनाओं के लिए लोगों में एक अनार सौ बीमार की स्थिति होने पर उन्होंने इस बार बजट बुक मे इनके कॉलम खाली रखवाए हैं, इसके अलावा क्योंकि इससे थोड़े से लोग खुश और ज्यादा नाराज हो जाते हैं। वहीं  किसी ने योजनाएं दी ही नहीं तो किसी से देरी से मिलीं हैं।वहीं  इससे यह छप नहीं पाईं। इसके साथ ही इन स्कीमों का वित्तपोषण नाबार्ड करता है।वहीं  सीएम जयराम ठाकुर ने छह मार्च को बजट पेश कर नाबार्ड को भेजी जाने वाली इन योजनाओं की सीमा भी 105 से बढ़ाकर 120 करोड़ रुपये कर दी है। 

बेशक इन मंत्री-विधायकों की प्राथमिकताएं बजट बुक में नहीं छपी, पर इन्होंने इनके लिए 25-25 हजार रुपये डाला है। इसके साथ ही सीएम ने बजट पेश किया तो इस दौरान हिमाचल सरकार के वित्त विभाग के नव व्यय अनुसूची के परिशिष्ट के तहत विधायकों की निर्दिष्ट प्राथमिकताओं की प्रकाशित पुस्तक भी सामने आई। 47 पृष्ठों की इस किताब में विधायकों के नाम के आगे के दो-दो कॉलम खाली छोड़े गए हैं।इनमें नोट लिखा है कि ‘माननीय विधायक से स्कीम प्राप्त होने पर मौजूद की जा सकती है ’। इसके साथ ही वास्तविक नई लघु सिंचाई योजनाओं में जसवां परागपुर के विधायक एवं मंत्री बिक्रम सिंह ठाकुर, नूरपुर के भाजपा विधायक राकेश पठानिया, फतेहपुर के विधायक सुजान सिंह पठानिया, नाहन के विधायक राजीव बिंदल, जयसिंहपुर के विधायक रविंद्र धीमान और जुब्बल-कोटखाई के विधायक नरेंद्र बरागटा की प्राथमिकताएं दर्ज नहीं हैं।

इसके साथ ही सड़कों और पुलों की भी मंत्री बिक्रम सिंह, विधायक राजीव बिंदल, राकेश पठानिया, सुजान सिंह पठानिया, रविंद्र धीमान और धर्मशाला के नवनियुक्त विधायक विशाल नैहरिया की प्राथमिकताएं शामिल नहीं हैं।वहीं  पेयजल योजनाओें में भी राकेश पठानिया, विशाल नैहरिया, सुजान सिंह पठानिया, नरेंद्र बरागटा, डा. राजीव बिंदल, दून के विधायक परमजीत पम्मी और चिंतपूर्णी बलवीर सिंह की प्राथमिकताएं इसमें नहीं हैं। इसके साथ ही इसी तरह से ओनगोइंग योजनाओं के भी कई कॉलम कई विधायकों ने खाली छोड़कर अज्ञात योजनाओं के लिए ही 25-25 हजार रुपये का टोकन बजट डलवाया है।

सऊदी अरब में तख्तापलट की ख़बरों के बीच किंग सलमान की सेहत पर सवाल, सामने आई तस्वीर

इस महिला के पास दो देशों की नागरिकता, जानिए क्या है पूरा मामला

बीच पर कपल बना रहे थे संबंध तभी आ गई पुलिस

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -