मेढ़क के वरदान

एक दिन एक औरत गोल्फ खेल रही थी.!

जब उसने बॉल को हिट किया तो वह जंगल में
चली गई.!

जब वह बॉल को खोजने गई तो उसे एक मेंढक
मिला जो जाल में फंसा हुआ था.!

मेंढक ने उस से कहा, “अगर तुम मुझे इससे आजाद
कर दोगी तो मैं तुम्हें तीन वरदान दुंगा.!

महिला ने उसे आजाद कर दिया.!

मेंढक ने कहा – “धन्यवाद, लेकिन तीन वरदानों में
मेरी एक शर्त है: जो भी तुम मांगोगी तुम्हारे
पति को उससे दस गुना मिलेगा.!

महिला ने कहा, “ठीक है.!”

उसने पहला बरदान मांगा, “मैं संसार
की सबसे खुबसूरत स्त्री बनना चाहती हूँ.!”

मेंढक ने उसे चेताया ,”क्या तुम्हें पता है कि ये
वरदान तुम्हारे पति को संसार का सबसे सुंदर
व्यक्ति बना देगा.!”

महिला बोली, “दैट्स ओके, क्योंकि मैं संसार
की सबसे खुबसूरत स्त्री बन
जाउंगी और वो मुझे ही देखेगा.!”

मेंढक ने कहा. “तथास्तु.!!!”

अपने दूसरे वरदान में उसने कहा,”मैं
संसार की सबसे धनी महिला बनना चाहती हूँ.!”

मेंढक ने कहा ,”यह तुम्हारे पति को विश्व
का सबसे धनी पुरुष बना देगा और वो तुमसे दस
गुना पैसे वाला होगा.!”

महिला ने कहा,”कोई बात नहीं, मेरा सब कुछ
उसका है और उसका सब कुछ मेरा.!”

मेंढक ने कहा, “तथास्तु..!!

जब मेंढक ने अंतिम वरदान के लिये
कहा तो उसने अपने लिए “एक हल्का सा हर्ट
अटैक मांगा.!”

मोरल ऑफ स्टोरीः
महिलाएं बुद्धिमान होती हैं, उनसे बच के रहे.!

महिला पाठकों से निवेदन है आगे ना पढें.!
आपके लिये जोक यहीं खत्म हो गया है..!!

.

पुरुष पाठकः कृपया आगे पढें

उसके पति को उससे 10 गुना “हल्का” हार्ट
अटैक आया.!!!

.

मोरल ऑफ द स्टोरीः
महिलाएं सोचती हैं.!
वे वास्तव में बुद्धिमान हैं..!!
उन्हें ऐसा सोचने दो, क्या फर्क पडता है…!!!

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -